Top

यूपी के श्रमिकों को ट्रेनिंग देगा जापान, करेगा कौशल विकास

जापान में स्पेसीफाईड स्किल्ड वर्कर्स प्रोग्राम के तहत 14 सेक्टर के लिए 3.14 लाख कुशल क्षमता के लोगों को लिया जायेगा। उत्तर प्रदेश से 35 हजार कुशल श्रमिकों को इसके लिए तैयार कराया जायेगा।

Shreedhar Agnihotri

Shreedhar AgnihotriReport Shreedhar AgnihotriShreyaPublished By Shreya

Published on 14 July 2021 4:20 PM GMT

यूपी के श्रमिकों को ट्रेनिंग देगा जापान, करेगा कौशल विकास
X

(कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Uttar Pradesh News: जापान में स्पेसीफाईड स्किल्ड वर्कर्स प्रोग्राम (Specified Skilled Workers Program) के तहत 14 सेक्टर के लिए 3.14 लाख कुशल क्षमता के लोगों को लिया जायेगा। उत्तर प्रदेश से 35 हजार कुशल श्रमिकों को इसके लिए तैयार कराया जायेगा। इन लोगों को जैपनीज भाषा (Japanese language) की ट्रेनिंग देने के साथ ही उनका कौशल विकास (Skill Development) भी किया जायेगा।

उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, निवेश मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह (Sidharth Nath Singh) ने कहा कि कोविड-19 महामारी (Corona Virus Pandemic) के दौरान किये गये प्रयासों के फलस्वरूप उत्तर प्रदेश मूल के 32 प्रवासी भारतीयों से 1045 करोड़ का निवेश प्रस्ताव प्राप्त करने में सफलता मिली है। इन प्राप्त निवेश प्रस्तावों में एग्रीकल्चर, डिफेंस एवं आईटी क्षेत्र प्रमुख रूप से शामिल हैं।

मंत्री ने की प्रोजेक्ट मॉनीटरिंग यूनिट के कार्यों की समीक्षा

सिद्धार्थ नाथ सिंह आज खादी भवन (Khadhi Bhawan) में प्रवासी भारतीयों की सुविधा और निवेश को आकर्षित करने के लिए गठित प्रोजेक्ट मॉनीटरिंग यूनिट (PMU) के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 116 भारतीय दूतावासों से सम्पर्क करके 3064 प्रवासी भारतीयों का डाटा तैयार किया गया और इन प्रवासी भारतीयों से लगातार सार्थक संवाद स्थापित कर निवेश प्रस्ताव प्राप्त करने में सफलता मिली है।

सिद्धार्थ नाथ सिंह (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

उन्होंने कहा कि अभी 16 भारतीय दूतावासों से एनआरआई का डाटाबेस प्राप्त हुआ है। शीघ्र ही पांच देशों से एनआरआई का डाटा उपलब्ध हो जायेगा। अन्य देशों से विदेश मंत्रालय के सहयोग से उत्तर प्रदेश के एनआरआई की जानकारी प्राप्त करने का प्रयास किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के 35 हजार श्रमिकों को किया जाएगा तैयार

सिंह ने कहा कि जापान में स्पेसीफाईड स्किल्ड वर्कर्स प्रोग्राम के तहत 14 सेक्टर के लिए 3.14 लाख कुशल क्षमता के लोगों को लिया जायेगा। उत्तर प्रदेश से 35 हजार कुशल श्रमिकों को इसके लिए तैयार कराया जायेगा। इन लोगों को जैपनीज भाषा की ट्रेनिंग देने के साथ ही उनका कौशल विकास भी किया जायेगा। उन्होंने कहा कि विदेशों में कुशल मानव संसाधन उपलब्ध कराने के लिए ओवरसीज मैनपावर रिक्रूटमेंट एजेंसी को ई-डिस्ट्रिक्ट एवं सेवायोजन पोर्टल से जोड़ा गया है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश मूल के प्रवासी भारतीयों को मान्यता प्रदान करते हुए एनआरआई कार्ड (NRI Card) देने की व्यवस्था है। इसके माध्यम से प्रवासी भारतीयों को विशेष सुविधाएं अनुमन्य होंगी। उन्होंने कहा कि अभी तक आवेदन करने वाले 540 प्रवासी भारतीयों को एनआरआई कार्ड (NRI Card) जारी भी किया जा चुका है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story