Top

सुलभ श्रीवास्तव की मौत से पत्रकारों में रोष, हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी एवं मृतक के परिवार को मुआवजे की मांग

प्रतापगढ़ में शराब माफियाओं के कृत्य का भंडाफोड़ करने पर माफियाओं द्वारा की गई पत्रकार की हत्या से समूचा मीडिया जगत मर्माहत होने के साथ ही जबरदस्त गुस्से में आ गया है।

Kapil Dev Maurya

Kapil Dev MauryaReporter Kapil Dev MauryaAshikiPublished By Ashiki

Published on 14 Jun 2021 7:37 AM GMT

सुलभ श्रीवास्तव की मौत से पत्रकारों में रोष, हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी एवं मृतक के परिवार को मुआवजे की मांग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जौनपुर: जनपद प्रतापगढ़ में शराब माफियाओं के कृत्य का भंडाफोड़ करने पर माफियाओं द्वारा की गई पत्रकार की हत्या से समूचा मीडिया जगत मर्माहत होने के साथ ही जबरदस्त गुस्से में आ गया है। पत्रकारों की चेतावनी है कि यदि जल्द से जल्द हत्यारों को सलाखों के पीछे न पहुंचाया गया तो पत्रकार समाज सड़क पर आन्दोलन करने को मजबूर हो जायेगा।

यहां बता दें कि टीवी न्यूज चैनल के पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव ने विगत दिवस प्रतापगढ़ के शराब माफियाओं के खिलाफ खबर चलाई, जिसके बाद माफिया पत्रकार से नाराज हो गये इसकी शिकायत 12 जून को एडीजी प्रयागराज से सुलभ श्रीवास्तव ने करते हुए अपने और परिवार के जान माल के सुरक्षा की गुहार लगाई थी।


सुलभ श्रीवास्तव द्वारा सुरक्षा की गुहार लगाने के बाद ही दूसरे दिन 13 जून को कटरा रोड स्थित एक ईंट भट्ठे के पास पत्रकार की लाश मिली ऐसे में इतना तो स्पष्ट होता है कि इस हत्याकांड के पीछे शराब माफियाओ के हाथ होने की पूरी संभावना है। पत्रकार के हत्या की खबर आते ही मीडिया जगत से जुड़े लोगों में शोक छा गया। वहीं पर खबर चलाये जाने को लेकर पत्रकार की हत्या को चतुर्थ स्तम्भ पर हमला माना जा रहा है।


इस घटना को लेकर जौनपुर प्रेस क्लब भी गुस्से में हो गया है प्रेस क्लब के अध्यक्ष कपिल देव मौर्य एवं महामंत्री शम्भूनाथ सिंह सहित संगठन से जुड़े पत्रकारो क्रमशः लोलारक दूबे, आशीष पान्डेय, राजकुमार सिंह, मो अब्बास, आसिफ खान, हसनैन कमर दीपू, राकेश कान्त पान्डेय, मनीष श्रीवास्तव, शशी मौर्य, कमलेश मौर्य, डा लल्लन मौर्य,मेंहदी हसन सामिन, अवधेश तिवारी, दीपक सिंह रिंकू, कौशल पान्डेय, केदार नाथ सिंह, अब्दुल हक अंसारी, नशीम अहमद,मंगला प्रसाद तिवारी, दीपक मिश्रा आदि बड़ी संख्या में पत्रकारों ने शोक संवेदना व्यक्त करते हुए शासन से मांग किया है कि सुलभ के हत्यारों को अविलंब गिरफ्तार कर सलाखों में कैद किया जाए। साथ ही खबर को लेकर पत्रकार की हत्या काण्ड को गम्भीरता से लेते हुए परिवार को 50 लाख रुपए की सहायता राशि सरकार द्वारा दिया जाये। साथ ही प्रदेश में पत्रकारों के सुरक्षा का उचित प्रबंध किया जाये।

Ashiki

Ashiki

Next Story