Top

एक्साइज ड्यूटी के खिलाफ सर्राफा व्यापारियों ने ट्रेन रोक किया हंगामा

Admin

AdminBy Admin

Published on 2 April 2016 2:34 PM GMT

एक्साइज ड्यूटी के खिलाफ सर्राफा व्यापारियों ने ट्रेन रोक किया हंगामा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में सर्राफा व्यापारियों ने ट्रेन रोककर जमकर हंगामा किया और एक घंटे तक ट्रेन को रोके रहे। सर्राफा व्यापारी पिछले एक माह से केंद्र सरकार द्वारा बढाई गई एक्ससाइज ड्यूटी का विरोध कर रहे है, लेकिन सरकार के कान में जूं तक नहीं रेंग रही हैहै। इससे नाराज व्यापारियों ने ट्रेन रोककर उन तक अपनी आवाज पहुंचाने का प्रयास किया है।

सर्राफा व्यापारी की पत्नी के सुसाइड से आक्रोशित थे व्यापारी

साउथ सर्राफा व्यापारियों ने गोविंदपुरी स्टेशन पर बांदा पैसेंजर को रोक लिया और ट्रेन को एक घंटे तक रोककर रखा। वहीँ कानपुर में आर्थिक तंगी के चलते एक सर्राफा व्यापारी की पत्नी ने सुसाइड कर लिया है इस बात पर भी व्यापारियों में आक्रोश व्याप्त था।

यह भी पढ़ें...सर्राफा व्यापारी की पत्नी ने लगाई फांसी, आर्थिक तंगी बनी परिवार की आफत

साउथ सर्राफा कमेटी के अध्यक्ष सुरेन्द्र वर्मा ने बताया कि उनकी मांग सरकार से एक्साइज ड्यूटी वापस लेने की है। इस बाबत वे शहर में भाजपा के सांसद मुरली मनोहर जोशी एवं देवेंद्र सिंह दोनों से मुलाकात चुके है लेकिन अभी तक सरकार द्वारा कोई भी पहल नहीं की गई। इसी वजह से ट्रेन रोककर अपना विरोध दर्ज किया है।

रोजाना लग रही करोड़ो की चपत

सर्राफा एसोसिएशन के अध्यक्ष की माने तो शहर से रोजाना 50 करोड़ रुपये का कारोबार होता है। इस हिसाब से विरोध स्वरूप 2 मार्च से बंद पड़े बाजार में अभी अरबों रुपये के व्यापार की चपत लग चुकी है।

असंगठित क्षेत्र का मजदूर बनाता है आभूषण

सर्राफा व्यापारियों का कहना है एक्साइज ड्यूटी मशीन से बने सामान पर लगाई जाती है जबकि सोने के आभूषण असंगठित क्षेत्र के मजदूरों द्वारा तराश कर बनाए जाते है।

Admin

Admin

Next Story