Top

Jhansi News: अपराध पर प्रशासन सख्त, DIG बोले- अपराधियों की संपत्ति होगी जब्त

Jhansi News: डीआईजी जोगेन्द्र कुमार ने हत्या, बलात्कार, महिला संबंधी अपराधियों की संपत्ति जब्त करने के निर्देश दिए।

BK Kushwaha

BK KushwahaReporter BK KushwahaShraddhaPublished By Shraddha

Published on 10 Jun 2021 4:02 PM GMT

डीआईजी जोगेन्द्र कुमार ने अपराधियों की संपत्ति को जब्त करने के निर्देश दिए।
X

डीआईजी जोगेन्द्र कुमार (फाइल फोटो - सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Jhansi News : पुलिस उपमहानिरीक्षक झांसी परिक्षेत्र जोगेन्द्र कुमार (Deputy Inspector General of Police Jogendra Kumar) ने अपराध एवं अपराधियों पर प्रभावी अंकुश लगाए जाने हेतु झांसी, जालौन एवं ललितपुर को हत्या, बलात्कार, महिला संबंधी अपराधों एवं जघन्य अपराधों में एनएसए एवं गैंगेस्टर एक्ट (Gangster Act) की कार्रवाई करने एवं अपराधियों को चिन्हित कर उनकी संपत्ति जब्त करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा अवैध संबंध का कारोबार करने वाले लोगों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई करें। यह निर्देश डीआईजी (DIG) ने जिले के तीन पुलिस कप्तानों को दिए हैं।

पुलिस उपमहानिरीक्षक जोगेन्द्र कुमार ने वरिष्ठ/पुलिस अधीक्षक झाँसी, जालौन एवं ललितपुर में अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान का नेतृत्व स्वयं करें एवं छापेमारी का कर्रवाई का नेतृत्व एएसपी व सीओ के माध्यम से निर्देश निर्गत करते हुए कराए जाने के निर्देश दिए हैं। डीआईजी ने विगत दस सालों में अवैध शराब के बनाने वाले, बेचने वाले व भण्डारण करने वाले सभी अपराधियों की सूची बनाकर अभिलेखीकरण करते हुए उनका सत्यापन कराए और यदि अवैध कार्यों में संलिप्त है तो उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

विगत दस सालों में जिन थाना क्षेत्रों में अधिक मात्रा में शराब बरामद हुई है, उनकी सूची बनाकर सत्यापन कराने, वहां पर इस प्रकार की कोई गतिविधि संचालित नहीं हो रही है यदि संचालित हो रही है तो कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। डीआईजी का कहना है कि अन्तर्राज्यीय स्तर पर अवैध शराब के व्यापार, भण्डारण में लिप्त अपराधियों, सिडिंकेट का पता लगाकर उनके खिलाफ भी कठोर कार्रवाई करते हुए संपत्ति जब्त की जाए। विगत में अवैध शराब के पंजीकरण प्रकरणों में अपराधियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के अंतर्गत कार्रवाई, जो अपराधी अभी तक गिरफ्तार नहीं हुए हैं, उनके खिलाफ अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं।

डीआईजी का कहना है कि अवैध शराब की रोकथाम हेतु निष्कर्षण, व्यापार एवं भंडारण के संबंध में लोगों से सूचनाएं प्राप्त करने हेतु एक व्हाट्सऐप नंबर निर्गत करने एवं उसका प्रचार प्रसार कराने को कहा है। उनका कहना है कि प्रचार प्रसार से आम जनमानस अवैध शराब के संबंध में पुलिस को गोपनीय रुप से प्रमाणिक सूचनाएं देकर अवैध शराब के कारोबारियों की कमर तोड़ सके तथा सूचना देने को प्रोत्साहित करने हेतु भी कहा गया है।

Shraddha

Shraddha

Next Story