×

Jhansi: मैडम, मैं जीवित हूं, मगर समाज कल्याण विभाग ने मुझे मृत घोषित कर दिया

Jhansi: पीड़ित वृद्व महिला के सदस्या को अवगत कराया कि मैने पेंशन हेतु फार्म ऑनलाइन है। परन्तु जिला पर समाज कल्याण विभाग द्वारा मुझे पेंशन का लाभ नही न देते हुये मुझे मृत भी घोषित कर दिया गया, जबकि मैं जीवित हूं।

B.K Kushwaha
Updated on: 18 May 2022 3:43 PM GMT
Jhansi News In hindi
X

जीवित महिला को किया मृत घोषित। 




 



 


  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Jhansi News Today: एक पीड़ित वृद्व महिला के सदस्या को अवगत कराया कि मैने पेंशन हेतु फार्म ऑनलाइन है। परन्तु जिला पर समाज कल्याण विभाग (Social Welfare Department) द्वारा मुझे पेंशन का लाभ नही न देते हुये मुझे मृत भी घोषित कर दिया गया, जबकि मैं जीवित हूं। इस सदस्या ने समाज कल्याण विभाग (Social Welfare Department) के अधिकारी से मोबाइल पर वार्ता करते हुये इस प्रकरण को अवगत कराते हुये निर्देश दिये कि आप अपने स्तर से नियमानुसार जांचकर पीड़िता को जल्द से जल्द लाभ दिलाये।

महिला उत्पीड़न के प्रकरणों को नियमानुसार निस्तारण कराने के निर्देश

सर्किट हाउस सभागार झांसी में सदस्या, राज्य महिला आयोग उप्र लखनऊ डॉ. कंचन जायसवाल (State Women Commission UP Lucknow member Dr. Kanchan Jaiswal) की अध्यक्षता में महिला जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें सभी पीड़ित महिलाओं द्वारा अपनी लिखित शिकायती पत्र सदस्य के समक्ष प्रस्तुत किये गये। उक्त प्रकरणों को सदस्य ने ध्यानपूर्वक सुनकर पीड़ित महिलाओं को त्वरित निस्तारण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों महिला उत्पीड़न के प्रकरणों को नियमानुसार निस्तारण कराने के निर्देश दिये। सुनवाई के दौरान एक पीड़िता को कोविड-19 के दौरान पति की मृत्यु हो जाने पर उसे परिवार के भरण पोषण हेतु लाभ दिलाये जाने के लिए सम्बन्धित अधिकारी को निर्देश दिये।

सर, पति द्वारा उसे फेसबुक किया जा रहा है बदनाम

एक पीड़िता ने अपने पति के खिलाफ शिकायती पत्र देते हुये सदस्या को अवगत कराया कि मेरे परिवार द्वारा मेरी शादी फौजी से करा दी गयी है और शादी के कुछ सालों बाद मेरे पति द्वारा मुझे फेसबुक पर बदनाम किया जा रहा है। इस प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुये सदस्या द्वारा पुलिस विभाग के सम्बन्धित थानाध्यक्ष को निर्देश दिये कि कठोर से कठोर कार्यवाही करते हुये पीड़िता को न्याय दिलाया जाये।

अधिकार के प्रति महिलाओं को किया जा रहा है जागरुक

सदस्य डॉ. कंचन जायसवाल (member Dr. Kanchan Jaiswal) ने कहा कि उप्र सरकार (UP Government) की मंशानुसार संचालित महिला सशक्तिकरण स्वालम्बी (women empowerment self-supporting) के अन्तर्गत महिला जनसुनवाई एवं महिला जागरुकता कार्यक्रम चलाये जा रहे है जिससे महिलायें उनके अधिकार के प्रति जागरुक किया जा रहा है और प्राथमिकता के आधार पर उनकी शिकायत दर्ज कराकर त्वरित निस्तारण हो रहा है। महिला जनसुनवाई के दौरान पारिवारिक विवाद मामले, घरेलु हिंसा, साइबर क्राइम, भूमि सम्बन्धी मामले एवं अन्य मामले आये और सभी मामलो को सदस्या सुनकर सम्बन्धित अधिकारियों को सम्बन्धित मामलों को त्वरित निस्तारित करने के निर्देश भी दिये।

16 प्रकरण में समस्त प्रकरणों का किया निस्तारण

सदस्या ने निर्देश दिये कि पात्र महिलाओं को बालसेवा योजना के 4 हजार रुपये प्रतिमाह लाभ दिया जायेगा। साथ ही वृ़द्वावस्था पेंशन, कन्या सुमंगला योजना, निराश्रित महिला पेंशन योजना, मातृशक्ति को सम्बल बनाने हेतु महिलाओं को जागरुक करते हुये लाभान्वित किया जाये। जनसुनवाई के दौरान 16 प्रकरण प्रस्तुत हुए जिसमें समस्त प्रकरणों का त्वरित निस्तारण किया गया।

शिशु बिहार का औचक निरीक्षण

उक्त के सम्बन्ध में सम्बन्धित को कडाई ने अनुपालन कराये जाने के निर्देश दिये गये मान० सदस्या महोदया के समक्ष घरेलू हिंसा, जमीन विवाद, विभागीय योजनाओं से सम्बन्धित समस्या उत्तराधिकार एवं आपसी विवाद, आदि प्रकरण प्रस्तुत किये गये। साथ ही जनसुनवाई के दौरान मिशन शक्ति, बेटी बचाओ बेटी पढाओ, उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना विषयक जागरूक किया गया व उ०प्र० मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना व अन्य विभागीय योजनाओं का भी प्रचार प्रसार किया गया। साथ ही स्वैच्छिक संगठन द्वारा संचालित सेन्ट जूड्स फाउण्डलिंग होम शिशु विहार गढ़िया फाटक झाँसी का औचक निरीक्षण किया गया जिसमें समस्थ व्यवस्थाएं सन्तोषजनक पायी गयी। अन्त में आभार नन्दलाल सिंह जिला प्रोबेशन अधिकारी झाँसी द्वारा व्यक्त किया गया।

यह लोग रहे उपस्थित

इस मौके पर अपर जिलाधिकारी न्यायिक श्यामलता आनन्द, सीओ ट्रॉफिक प्रज्ञा पाठक, महिला थानाध्यक्ष नीलेश कुमारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी नन्दलाल सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक के प्रतिनिधि जीआईसी प्रधानाचार्य प्रदीप कुमार मौर्य, बीएसए के प्रतिनिधि जगत सिंह राजपूत, श्रम प्रवर्तन अधिकारी पल्लवी सिंह, समाज कल्याण विभाग के सीनियर असिस्टेन्ट सुखपाल सिंह, अल्पसंख्यक विभाग के वरिष्ठ सहायक इशहाक मोहम्मद, आजीविका मिशन के जिला मिशन प्रबन्धक गौरव भटनागर, जिला उद्योग केन्द्र की सहायक प्रबन्धक प्रज्ञा वर्मा, सहित जिला प्रोबेशन कार्यालय के महिला कल्याण अधिकारी प्रियका गुप्ता, जिला समन्वयक राधारमण, रजनी वर्मा एवं भारी संख्या में महिला फरियादी मौजूद रही।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story