MP का दारोगा बनकर करवाता था रेलपटरी चोरी, अब हुआ गिरफ्तार

मालूम हो कि आरपीएफ ग्वालियर ने ग्राम तुरानी थाना झाँसी रोड के पास रहने वाले मलखान सिंह गुर्जर को सिंथौली के पास पटरी चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया है।

झाँसी: रेल सुरक्षा बल की टीम ने रेल पटरी चोरी के आरोप में एनसीआरएमयू के सहायक सचिव समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए आरोपियों को अदालत में पेश किया गया। वहां से उनको जेल भेजा गया। इस मामले में रेल प्रशासन ने जांच शुरु कर दी हैं। जांच के दायरे में सीनियर सेक्शन इंजीनियर भी आ रहे हैं। इसको लेकर नेताओं में हड़कंप मचा हुआ है।

पुलिस का दरोगा बन कर चोरी करता था पटरी, गिरफ्तार

मालूम हो कि आरपीएफ ग्वालियर ने ग्राम तुरानी थाना झाँसी रोड के पास रहने वाले मलखान सिंह गुर्जर को सिंथौली के पास पटरी चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया है। इसके पहले मुरैना निवासी रघुवीर धाकड़, सागर निवासी जगदीश सिंह, शैलेन्द्र त्यागी, मनीष व दिनेश राठौड़ को गिरफ्तार किया गया था। इन्हीं आरोपियों ने बताया था कि मलखान सिंह सिंथौली के पास प्वाइंटमैन के रुप में पदस्थ है। मलखान ने मुरैना के व्यापारी दिनेश राठौर से पटरी कटवाने का सौदा किया था। 6 जून को मुरैना के व्यापारी के लड़के सिथौली पर पटरी काटने में जुटे हुए थे। तीन टन माल गाड़ियों में लोड करके भेजा जा चुका था। आरपीएफ का कहना है कि मलखान सिंह वर्तमान में अवकाश पर है। आरपीएफ का कहना है कि मलखान सिंह एमपी पुलिस का दारोगा बनकर यार्ड से रेल पटरी चोरी करवाता था।

ये भी पढ़ें-    BJP सरकार की गलत नीतियों के कारण बच्चों की शिक्षा का हो रहा नुकसान: अखिलेश

एनसीआरएमयू के शाखा सहायक सचिव मलखान सिंह गुर्जर के पास से मध्य प्रदेश पुलिस के उपनिरीक्षक का फर्जी आई कार्ड भी मिला है। इसमें खाकी वर्दी में मलखान सिंह का फोटो लगा है। इसके अलावा सिथौली एवं संदलपुर स्टेशन प्रबंधक की सील भी इसके पास मिली है। आरपीएफ को संभावना है कि रेलवे पटरी चुराने के मामले में फर्जी आईडी कार्ड व सील का उपयोग भी किया गया है। इसकी जांच की जा रही है। गिरफ्तार किए गए आरोपी मलखान के खिलाफ पहले भी कई शिकायतें हो चुकी हैं। एक रेल पथ निरीक्षक ने कट्टा तानकर कर्मचारी की पोस्टिंग करवाने का आरोप भी लगाया था। जबकि एक कर्मचारी ने कमरे में बंधक बनाकर मारपीट करने का आरोप मलखान सिंह पर लगाया था।

चोर साथी को छुड़ाने गए एनसीआरएमयू के शाखा अध्यक्ष को भगाया

ग्वालियर रेलवे सेक्शन के पश्चिम सिथौली यार्ड सीनियर सेक्शन इंजीनियर बृजेश कुमार बाथम के अधीन है। बृजेश कुमार बाथम एनसीआरएमयू ग्वालियर के शाखा अध्यक्ष हैं। जबकि चोरी के मामले में पकड़ा गया मलखान सिंह गुर्जर शाखा सहायक सचिव के पद पर कार्यरत है। इस मामले की जानकारी शाखा अध्यक्ष को हुई को वह आरपीएफ ग्वालियर थाने पहुंचे। यहां उन्होंने चोरी के आरोप में पकड़े गए शाखा सहायक सचिव को छुड़ाने का काफी प्रयास किया मगर उनकी एक नहीं चली है।

ये भी पढ़ें-    नोडल अधिकारी के दौरे का सच तलाशती रिपोर्ट, कागजी बाजीगरी का खेल या कुछ और…

बाद में आरपीएफ टीम ने शाखा अध्यक्ष को भगा दिया है। इस मामले की सूचना डीआरएम से लेकर अन्य रेलवे अफसरों को दी गई हैं। सूत्रों का कहना है कि सीनियर सेक्शन इंजीनियर के सेक्शन से कई टन रेलवे पटरी चोरी हो गई मगर उनका पता तक नहीं है। इससे प्रतीत होता है कि उक्त मामले में सीनियर सेक्शन इंजीनियर की भूमिका पूरी तरह से संदिग्ध है। वहीं, सीनियर सेक्शन इंजीनियर बृजेश कुमार बाथम का कहना है कि इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। इसकी जानकारी उनके सीनियर अफसर ही देंगे।

रिपोर्ट-   बी के कुशवाहा

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App