×

Jhansi News: एलएलबी के छात्र ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मोबाइल फोन से खुलेगा मौत का राज

Jhansi News: चंदन एक अधिवक्ता के साथ प्रैक्टिस कर रहा था। रोज की तरह रात्रि खाना खाने के बाद अपने कमरे में सोने चला गया। सुबह जब वह नींद से नहीं जागा, तो परिजनों को चिंता हुई और उन्होंने उसके कमरे में जाकर देखने का प्रयास किया।

B.K Kushwaha
Published on: 2 April 2024 3:56 PM GMT
Jhansi News
X

Jhansi News (Pic:Social Media)

Jhansi News: एलएलबी के छात्र ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक के पास एक मोबाइल फोन मिला है। इस फोन की पुलिस ने जांच शुरु कर दी है। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। सीपरी बाजार थाना क्षेत्र के आईटीआई सिद्धेश्वर नगर में चंदनराय उर्फ रौनक राय परिवार समेत रहता था। परिजनों के मुताबिक वह एलएलबी फाइनल कर रहा था। उसके पिता रिटायर्ड पीडब्लूडी अधिकारी है। चंदन एक अधिवक्ता के साथ प्रैक्टिस कर रहा था। रोज की तरह रात्रि खाना खाने के बाद अपने कमरे में सोने चला गया। सुबह जब वह नींद से नहीं जागा, तो परिजनों को चिंता हुई और उन्होंने उसके कमरे में जाकर देखने का प्रयास किया। लेकिन कमरा अंदर से बंद था। किसी प्रकार कमरे के अंदर देखा तो वह फांसी पर लटक रहा था। इसकी सूचना पुलिस को दी गई।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पुलिस को मृतक के पास से एक मोबाइल मिला। पुलिस ने मोबाइल फोन को कब्जे में ले लिया। पुलिस का कहना है कि मोबाइल फोन की मदद से यह पता लगाया जाएगा कि चंदन राय ने आत्महत्या क्यों की। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया।

शुगर की दवा लेने आए युवक की मौत

शुगर की दवा लेने आए युवक की अचानक तबीयत बिगड़ गई, उसे मेडिकल कालेज लाया गया। जहां उसकी मौत हो गई। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। चिरगांव थाना क्षेत्र के ग्राम छिरौना में प्रमोद कुमार यादव परिवार समेत रहता था। परिजनों के अनुसार प्रमोद कुमार के दो बच्चे है। जिनकी शादी हो गई है। प्रमोद यादव बस कंडेक्टर था। विगत दिवस अपने साथी के साथ शुगर की दवा लेने झांसी आया था। झांसी में जब वह बाबूलाल कारखाने के पास था, तभी उसकी अचानक तबीयत बिगड़ गई। आनन-फानन में उसे जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया।

Durgesh Sharma

Durgesh Sharma

Next Story