तो इस दिन कमलेश की हत्या! ये सनसनीखेज खुलासा आपके होश उड़ा देगा

बरेली जिले में कमलेश तिवारी की हत्या के संबंध में सैय्यद कैफी अली नाम के शख्स को हिरासत में लिया है। जानकारी के मुताबिक देररात एक बजे के आसपास एटीएस की टीम पहुंची और कैफी को पूछताछ की बात कहकर उठा लिया।

तो इस दिन कमलेश की हत्या! ये सनसनीखेज खुलासा आपके होश उड़ा देगा

तो इस दिन कमलेश की हत्या! ये सनसनीखेज खुलासा आपके होश उड़ा देगा

लखनऊ: हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड में साजिशकर्ताओं ने अब तक का सबसे खुलासा किया है। रशीद अहमद पठान उर्फ राशिद, मौलाना मोहसिन शेख और फैजान यूनुस ने एसआईटी, एनआईए, एटीएस, आईबी और अन्य एजेंसियों के सामने ये कबूल किया है कि कमलेश की हत्या एक दिन पहले होनी थी। इन आरोपियों को ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ लाया गया।

यह भी पढ़ें: कैबिनेट मीटिंग के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करते सिद्धार्थ नाथ सिंह व श्रीकांत शर्मा

पूछताछ के दौरान साजिशकर्ताओं ने कहा कि गुरुवार को कमलेश की हत्या के लिए शेख अशफाक हुसैन और पठान मोइनुद्दीन अहमद लखनऊ आए थे। उनको गुरुवार को ही कमलेश तिवारी की हत्या करनी थी। यही कारण था कि कानपुर देहात से कमलेश के नंबर पर कॉल कर हत्यारों ने उससे मिलने का समय मांगा था। हत्यारों ने गुरुवार देर रात ही कमलेश को फोन कर मिलने को कहा था, लेकिन उसने मना कर दिया था।

शुक्रवार सुबह की गयी थी हत्या

जब गुरुवार को कमलेश हत्यारों को नहीं मिला, तब उसकी हत्या शुक्रवार सुबह की गयी। बता दें कि में नाका के खुर्शीदबाग की तंग गलियों में रहने वाले कमलेश तिवारी (50) की हत्या शुक्रवार को बड़ी बेरहमी से कर दी गयी थी। हमलावर भगवा कपड़े पहने हुए थे और हाथ में मिठाई का डिब्बा लेकर उनके कार्यालय पहुंचे थे।

यह भी पढ़ें: महिलाओं का जानवरों से संबंध! इंसान नहीं दरिंदा था ये शख्स, 240 के साथ कराया गंदा काम

कमलेश को गला रेतने के बाद बदमाशों ने गोली भी मारी थी। मालूम हो, कमलेश तिवारी अपने बयानों के लेकर विवादों थे। हालांकि कहा जा रहा है कि शादी के विवाद में कमलेश तिवारी की हत्या हुई है। बदमाशों ने नौकर को सिगरेट लाने के लिए बाहर भेज दिया और वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए।

सैय्यद कैफी अली को किया गिरफ्तार

बरेली जिले में कमलेश तिवारी की हत्या के संबंध में सैय्यद कैफी अली नाम के शख्स को हिरासत में लिया है। जानकारी के मुताबिक देररात एक बजे के आसपास एटीएस की टीम पहुंची और कैफी को पूछताछ की बात कहकर उठा लिया। परिवार से मिली जानकारी के अनुसार कैफी दरगाह आला हजरत में खादिम का काम करते है और बेहद शरीफ है।