×

Kannauj Ganga Dussehra : मेहंदी घाट पर उमड़ी हजारों की भीड़, टूटे कोरोना प्रोटोकॉल के सारे नियम

Kannauj Ganga Dussehra : गंगा दशहरा पर्व पर कन्नौज के मेहंदी घाट पर श्रद्धालु गंगा स्नान करने के लिए उमड़े हैं।

Network

NetworkNewstrack NetworkShraddhaPublished By Shraddha

Published on 20 Jun 2021 7:31 AM GMT

गंगा दशहरे के मौके पर मेहंदी घाट पर उमड़ी हजारों की भीड़
X

गंगा दशहरे के मौके पर मेहंदी घाट पर उमड़ी हजारों की भीड़

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Kannauj Ganga Dussehra : गंगा दशहरा पर्व पर कन्नौज (Kannauj) के मेहंदी घाट (Mehndi Ghat) पर हजारों की संख्या में श्रद्धालु गंगा स्नान करने के लिए उमड़े हैं। वहीं एकत्रित हुई भीड़ में कोरोना वायरस को लेकर किसी भी प्रकार का कोई भय नहीं दिखाई पड़ा। क्योंकि श्रद्धालु बिना मास्क (Without Mask) और बिना सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) अपनाएं गंगा स्नान करते और आते जाते नजर आए । बताते चलें कि कन्नौज के मेहंदी घाट पर कन्नौज, हरदोई, औरैया इटावा, जालौन सहित कई जनपद के लोग हजारों की संख्या में यहां गंगा स्नान करने आते हैं ।

कन्नौज के मेहंदी घाट का नजारा आज गंगा दशहरा पर्व पर चौंकाने वाला दिखाई दिया। यहां कोविड-19 के सारे प्रोटोकॉल तोड़ते हुए श्रद्धालु गंगा स्नान करते दिखाई पड़े । बताते चलें कि कन्नौज के मेहंदी घाट पर कन्नौज, हरदोई, औरैया, जालौन, इटावा सहित अन्य कई जिलों के श्रद्धालु गंगा दशहरा पर स्नान करने आते हैं । आज भी हजारों की संख्या में श्रद्धालु सुबह से ही मेहंदी घाट पर गंगा स्नान के लिए पहुंचे । लेकिन इस बीच यह लोग भूल गए कि कोरोनावायरस का प्रकोप कम हुआ है खत्म नहीं ।

हजारों की संख्या में लोग बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग अपनाएं गंगा स्नान करते दिखाई पड़े। तो वहीं गंगा स्नान के लिए आते जाते श्रद्धालु एक साथ भीड़ में बिना मास्क के नजर आए । इस तरह की उमड़ी भीड़ ने कहीं ना कहीं जिला प्रशासन की चिंताएं बढ़ा दी हैं । क्योंकि देखा जाए तो कन्नौज में कोरोनावायरस की रफ्तार काफी धीमी हो गई है और केस ना के बराबर ही आ रहे हैं तो शनिवार को एक भी कोरोना के केस नही आये । इससे जिला कोरोना बायरस से मुक्ति की ओर बढ़ रहा है । लेकिन इस प्रकार की लापरवाही कहीं ना कहीं एक बार फिर महामारी की ओर ठकेलने के लिए काफी होगी।

Shraddha

Shraddha

Next Story