×

कानपुर: बुलेट प्रूफ जैकेट-जूते बनाने वाली फैक्ट्री में आग, सेना ने संभाला मोर्चा

सेना के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट ,जूते बनाने वाली फैक्टी में शार्ट सर्किट से रविवार (12 फरवरी) रात आग लग गई l फैक्ट्री के अन्दर रखे संवेदनशील केमिकल तक जब यह आग पहुंची तो धमाके शुरू हो गए। इन धमाको ने आग में घी डालने का काम किया है। देखते ही देखते पूरी फैक्ट्री को आग की लपटों ने घेर लिया।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 12 Feb 2018 5:01 AM GMT

कानपुर: बुलेट प्रूफ जैकेट-जूते बनाने वाली फैक्ट्री में आग, सेना ने संभाला मोर्चा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कानपुर: सेना के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट, जूते बनाने वाली फैक्टी में शार्ट सर्किट से रविवार (12 फरवरी) रात आग लग गई l फैक्ट्री के अन्दर रखे संवेदनशील केमिकल तक जब यह आग पहुंची तो धमाके शुरू हो गए। इन धमाको ने आग में घी डालने का काम किया है। देखते ही देखते पूरी फैक्ट्री को आग की लपटों ने घेर लिया।

आग की सूचना पर पहुंची पुलिस और फायर ब्रिग्रेड दो दर्जन से ज्यादा गाड़िया आग बुझाने में जुट गई। आग को काबू करने के लिए सेना ने भी मोर्चा संभाल लिया।

क्या था मामला?

महाराजपुर थाना क्षेत्र स्थित सलेमपुर गांव के पास एमकेयू नाम की फैक्ट्री है। इस फैक्ट्री में सेना के जवाने के लिए हेलमेट, बुलेटप्रूफ जैकेट, हेलमेट बनाती हैl रविवार को फैक्ट्री में छुट्टी थी। देर रात फैक्ट्री में अचानक धुआं उठा और आग लग गई। यह आग जब स्टोर रूम में रखे केमिकल के ड्रमों तक पहुंची तो धमाके शुरू हो गए। पूरी फैक्ट्री आग की चपेट में आ गई ,बड़ी संख्या में जैकेट ,जूट हेलमेट समेत वहां रखा कच्चा मेटेरियल जलकर खाख हो गया l

मौके पर पहुंची दर्जनों गाड़िया

फैक्ट्री में मौजूद गार्डों ने आग की सूचना पुलिस, फायर ब्रिग्रेड फैक्ट्री के एमडी नीरज गुप्ता को दी। घटना स्थल पर पहुंची फायर दर्जनों गाड़िया आग बुझाने में जुट गई। जब आग पर काबू नहीं पाया जा सका तो सेना ने मोर्चा संभाला। इस फक्ट्री में सेना के रक्षा उत्पाद होने की वजह से स्थानीय लोगों को फैक्ट्री से दूर रखा गया। फैक्ट्री के अंदर होने वाले धमाको की आवाज कई किलोमीटर तक सुनी जा सकती थी। फैक्ट्री के अंदर धमाको के बाद ड्रम व टीन शेड खेतों में जा गिरे।

आग शार्ट सर्किट है मुख्य वजह

फायर ऑफिसर एमपी सिंह के मुताबिक, यह आग शार्ट सर्किट की वजह से लगी है। आग पर काबू करने के लिए फैक्ट्री के चारों तरफ से घेराबंदी कर पानी का छिड़काव किया गया है। अंदर रखे केमिकल और कपड़े व प्लास्टिक की वजह से आग विकराल हो गई l

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story