बिकरू कांडः पुलिस की चार्ज शीट तैयार, ये निकले साजिश रचने के जिम्मेदार

लगभग चार महीने पहले हुए कानपुर के बिकरू कांड में पुलिस ने अपनी चार्जशीट तैयार कर ली है। चार्जशीट में तत्कालीन दरोगा केके शर्मा और एसओ विनय तिवारी को भी साजिश का हिस्सा माना गया है।

police-encounter

बिकरू कांडः पुलिस की चार्ज शीट तैयार, ये निकले साजिश रचने के जिम्मेदार (social media)

लखनऊ: लगभग चार महीने पहले हुए कानपुर के बिकरू कांड में पुलिस ने अपनी चार्जशीट तैयार कर ली है। चार्जशीट में तत्कालीन दरोगा केके शर्मा और एसओ विनय तिवारी को भी साजिश का हिस्सा माना गया है। चार्जशीट दाखिल करने की अंतिम तिथि चार अक्टूबर है।

ये भी पढ़ें:हाथरस गैंगरेप केस: लखनऊ में भारतीय सफाई महासंघ के कर्मचारीयों ने दिया धरना

एसओ विनय तिवारी ने ही गैंगेस्टर विकास दुबे को पूरा संरक्षण दिया

सूत्रों के अनुसार चार्जशीट में कहा गया है कि एसओ विनय तिवारी ने ही गैंगेस्टर विकास दुबे को पूरा संरक्षण दिया। अगर पुलिस की तरफ से दबिश देने की सूचना वह न देता तो इतना बड़ा कांड न होता। चार्जशीट दाखिल करने की अंतिम तिथि चार अक्तूबर है। इस दिन रविवार और दो को गांधी जयंती है। इसलिए कानपुर पुलिस 30 सितंबर या एक अक्तूबर को चार्जशीट दाखिल कर सकती है।

विकास दुबे के घर पर पकड़ने गयी पुलिस टीम पर उसने अपने साथियों के हमला कर दिया था

गौरतलब है कि विकास दुबे के घर पर पकड़ने गयी पुलिस टीम पर उसने अपने साथियों के हमला कर दिया था। इसमें उसने 8 पुलिसवालों को मार दिया था। इसके बाद फरार होने पर पुलिस ने गैंगेस्टर विकास दुबे को मध्यप्रदेश से पकड़ा जहां से कानपुर लाते समय एनकाउंटर में मारा गया था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि चार्जशीट में उस रात विनय तिवारी से विकास दुबे ने सभी पुलिस कर्मियों को मारने की बात कही थी। इसके बाद भी एसओ विनय तिवारी ने किसी अधिकारी को इसकी जानकारी नहीं दी थी।

police-encounter
police-encounter (social media)

जब पुलिस की टीम विकास को गिरफ्तार करने बिकरू गांव पहुंची थी

इस निलंबित पुलिसकर्मी पर आरोप है कि जब पुलिस की टीम विकास को गिरफ्तार करने बिकरू गांव पहुंची थी। उससे पहले ही उसने गैंगस्टर को इस बारे में खबर पहुंचा दी थी। विकास दुबे के लिए मुखबिरी करने के आरोप में ही पुलिस ने विनय तिवारी को गिरफ्तार किया था।

ये भी पढ़ें:लूडो में पापा से हारी बेटी तो रिश्ता तोड़ने जा पहुंची कोर्ट, पूरी बातें जानकर चौंक जाएंगे

विवेचना में कहा गया है कि विनय तिवारी को विकास के अपराधों की पूरी जानकारी थी। दर्जनों शिकायतें उसके खिलाफ पहुंची लेकिन कार्रवाई नहीं की। जब टॉप-10 अपराधियों की सूची बनाई गई तब भी विनय ने विकास को बचाया।

श्रीधर अग्निहोत्री

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App