शोले का वीरू गिरफ्तारः फीस के लिए चढ़ा पानी की टंकी पर, किया जानलेवा प्रदर्शन

अखिल भारतीय पीड़ित अभिभावक महासंघ के अध्यक्ष राकेश मिश्रा ने कानपुर के फूलबाग स्थित पानी की टंकी पर चढ़कर फीस माफी के मुद्दे पर प्रदर्शन किया।

kanpur man Deadly protest climbed water tank over fee waiver

फीस के लिए चढ़ा पानी की टंकी पर

कानपुर : अखिल भारतीय पीड़ित अभिभावक महासंघ के अध्यक्ष राकेश मिश्रा निडर ने अपनी निडरता का प्रदर्शन करते हुए कानपुर के फूलबाग स्थित पानी की टंकी पर चढ़कर फीस माफी के मुद्दे पर प्रदर्शन किया। इस बारे में निडर ने कहा कि लॉकडाउन से पूर्व निजी विद्यालय चोरी करते थे, परंतु कोविड-19 के काल में ऑनलाइन शिक्षा देकर डकैती डाल रहे हैं। अभिभावकों का दल राकेश मिश्रा के समर्थन में ढपली,बैनर, प्ले कार्ड देकर जोरदार एवं उत्साही नारे लगा रहा था। जिसे पुलिस ने छीन कर जब्त कर राकेश मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया।

पानी की टंकी पर चढ़ें पीड़ित अभिभावक महासंघ के अध्यक्ष

मिश्रा ने पुलिस की जीप में बैठते ही ‘नो स्कूल, नो फीस!’, ‘ फीस गले की फांसी है, जनता भूखी प्यासी है’,  ‘योगी बाबा रहम करो, कुछ तो अच्छे कर्म करो।’, ‘यह जो धंधा गर्दी है,उसके पीछे वर्दी है’ के नारे लगाने लगे।

उन्नाव के डॉक्टर विरेंद्र स्वरूप एजुकेशन सेंटर में कक्षा 10 में अध्ययनरत छात्र दिव्यांशु सिंह की आत्महत्या को लेकर राकेश मिश्रा का मानना है कि यह अप्रत्यक्ष रूप से स्कूल के प्रबंधक एवं प्रधानाचार्य द्वारा हत्या की गई है।

ये भी पढ़ेंः कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष की तबियत अचानक बिगडी, अस्‍पताल से जांच कराकर लौटे

ये लोग रहे प्रदर्शन में शामिल

फीस माफी को को लेकर हो रहे प्रदर्सन में प्रदीप त्रिपाठी, संदीप त्यागी, साहिल यादव,अनिल गुप्ता, नवीन अग्रवाल, शारिक मिर्जा, एड.मधु यादव, एड.शिशिर पांडे,एड. दयाल तिवारी,आशीष शुक्ला,रमाकांत वसीम अहमद, हरिशंकर प्रजापति, अमित कपूर,संजीव चौहान, मीनाक्षी गुप्ता, शमशाद अहमद, शाह आलम, महबूब इंटरनेशनल, सौरभ त्रिपाठी, लक्ष्मी निषाद, प्रेम यादव, सुमित मिश्रा,एड.बृजेंद्र यादव, पंकज यादव, सोहेल अख्तर, परवेज, अमित कपूर शामिल रहे।

kanpur man Deadly protest climbed water tank over fee waiver

उठी ये मांगेः

1- शैक्षणिक वर्ष को जीरो सत्र घोषित किया जाए।

2-छात्र दिव्यांशु सिंह की आत्महत्या मामले में जिन धाराओं में मुकदमा पंजीकृत हुआ हो, उसे हत्या की धाराओं के तहत स्कूल के प्रबंधक /प्रधानाचार्य के खिलाफ दर्ज किया जाए।

ये भी पढ़ेंः बिहार: त्योहारी खुमार के बीच चुनाव, जलेगी लालू की लालटेन या नीतीश करेंगे धमाका

3-डीएफआरसी की तत्काल बैठक सुनिश्चित की जाए एवं अप्रैल मई-जून की संपूर्ण फीस माफ की जाए।

4-राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय के तर्ज पर ऑनलाइन शिक्षा का शुल्क निजी विद्यालयों द्वारा लिया जाए।

5-जो विद्यालय सालाना 20,000 से अधिक किसी भी मद में शुल्क ले रहे हैं, उनकी ऑडिटेड बैलेंस शीट उपलब्ध कराई जाए।

6-राकेश व अर्चना के बच्चों को 10000000 रुपए का फिक्स डिपाजिट व शेष बचे एक अभिभावक के लिए सरकारी नौकरी की मांग।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App