×

Kanpur News: डंपर ने छात्र को कुचला, पेपर देने के लिए लेने गया स्टेशनरी का सामान

Kanpur News: बोर्ड परीक्षा की तैयारी को लेकर स्टेशनरी लेने जा रहे छात्र को डंपर ने टक्कर मार दी। हादसे में छात्र की मौके पर ही मौत हो गई।

Anup Pandey
Published on: 21 Feb 2024 7:02 AM GMT
kanpur news
X

कानपुर में तेज रफ्तार डंपर ने छात्र को कुचला (सोशल मीडिया)

Kanpur News: बोर्ड परीक्षा की तैयारी को लेकर स्टेशनरी लेने जा रहे छात्र को डंपर ने टक्कर मार दी। हादसे में छात्र की मौके पर ही मौत हो गई। मामला भीतरगांव चौकी क्षेत्र के बेहटा बुजुर्ग का है। छात्र 22 मार्च से शुरु होने वाली बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी के लिए खरीददारी करने भीतरगांव जा रहा था। बेटे के मौत की सूचना मिलते ही परिजन व ग्रामीण मौके पर जमा हो गए और घाटमपुर-भीतरगांव मार्ग पर जाम लगा दिया। वहीं पुलिस को सूचना मिलने पर ग्रामीणों और परिजनों को शांत कराने का प्रयास किया। करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद परिजनों ने रास्ता खाली किया।

स्टेशनरी का सामान लेने जा रहा था छात्र

कुम्हेड़हिया गांव निवासी रामप्रसाद सोनकर के चार बेटों में मोहित (15) तीसरे नंबर का था। मोहित दसवीं का छात्र था और 22 फरवरी से बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रहा था। तैयारी के लिए मॉडल पेपर व स्टेशनरी का सामान लेने साइकिल से भीतरगांव कस्बा जा रहा था। तभी भीतरगांव की ओर से आ रहे डंपर ने साइकिल सवा छात्र को जोरदार टक्कर मार दी। जिसके बाद छात्र जमीन पर गिर गया और डंपर के पहियों के नीचे आ जाने से उसकी मौके पर ही मौत हो गयी। वहीं मौका पाकर चालक डंपर छोड़कर फरार हो गया। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्र के शव को भीतरगांव सीएचसी भिजवाया। सूचना होते ही परिजनों में कोहराम मच गया। परिजन और ग्रामीण घटना स्थल पर पहुंच हंगामा करने लगे।

पुलिस ने किया लाठी चार्ज

रास्ते में जाम लगने की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्र के परिजनों और ग्रामीणों से रास्ता खाली करने को कहा तो परिजनों की पुलिस से झड़प हो गई। पुलिस ने परिजनों को कार्रवाई का आश्वसान दिया पर वह नहीं मानें। परिजन घटना स्थल पर शव लाने की मांग पर अड़े थे। वहीं पुलिस बवाल को देख शव नहीं ला रही थी। काफ़ी देर तक परिजनों के न मानने पर पुलिस ने लाठी चार्ज कर ग्रामीणों को खदेड़ा।

शादी में शामिल होने गई थी मां

भाई ने बताया कि मोहित की मां नीलम पहले फतेहपुर जिले के एक गांव में आयोजित शादी समारोह में शामिल होने के बाद वह अपने मायके धमना बुजुर्ग गई थी। जब नीलम को बेटे की मौत की सूचना मिली तो वह बेसुध हो गई। बेटे के शव को देख घंटों बिलखती रही। बोल रही थी-जो मेरे बिना कहीं जाता नहीं था। आज वो बिना बताएं हमको छोड़ गया।

Shishumanjali kharwar

Shishumanjali kharwar

कंटेंट राइटर

मीडिया क्षेत्र में 12 साल से ज्यादा कार्य करने का अनुभव। इस दौरान विभिन्न अखबारों में उप संपादक और एक न्यूज पोर्टल में कंटेंट राइटर के पद पर कार्य किया। वर्तमान में प्रतिष्ठित न्यूज पोर्टल ‘न्यूजट्रैक’ में कंटेंट राइटर के पद पर कार्यरत हूं।

Next Story