×

Kanpur News: घर के दिए जलने से पहले बुझ गए दो घरों के चिराग, ट्रेन की चपेट में आए दो मौसेरे भाइयों की मौत

Kanpur News: कानपुर शहर से सटे सचेंडी में अग्निवीर की तैयारी कर रहे दो मौसेरे भाई ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। गेटमैन की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शिनाख्त करने के बाद परिवार को सूचना दी। परिवार के साथ गांव में मातम छा गया।

Anup Pandey
Published on: 11 Nov 2023 4:32 PM GMT
Two cousin brothers died after being hit by a train
X

ट्रेन की चपेट में आए दो मौसेरे भाइयों की मौत: Photo- Newstrack

Kanpur News: कानपुर शहर से सटे सचेंडी में अग्निवीर की तैयारी कर रहे दो मौसेरे भाई ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। गेटमैन की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शिनाख्त करने के बाद परिवार को सूचना दी। परिवार के साथ गांव में मातम छा गया। एसीपी पनकी भी मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

दिवाली के दिए जलने से पहले बुझ गए दो घरों के दिए

सचेंडी थाना क्षेत्र के लालशाह का पुरवा गांव में रहने वाले बिंदा सिंह चंदेल का इकलौता बेटा आशीष (19) फौज भर्ती की तैयारी अपने मौसा राजेश सिंह के बेटे सुभाष सिंह (20) के साथ रोज की तरह देर शाम दौड़ के बाद दोनों कानपुर-झांसी रेलवे ट्रैक पर बैठकर आराम कर रहे थे। इसी बीच कानपुर की ओर से एक ट्रेन आ गई, जब तक दोनों संभलते वे चपेट में आने से दोनों की मौके पर मौत हो गई। सूचना पर सचेंडी थाने की पुलिस और एसीपी पनकी टीबी सिंह मौके पर पहुंचे। शिनाख्त करने के बाद परिजनों को हादसे की जानकारी दी।

परिवार के लोग कर रहे थे दीवाली की खरीददारी

धनतेरस की खरीदारी में जुटे परिवार को हादसे की जानकारी मिलते ही पैरों तले जमीन खिसक गई। पहले तो किसी को विश्वास ही नहीं हुआ। मौके पर मृतक आशीष की बहन व मां पहुंची तो दोनों का शव देखकर बेहोश हो गईं। उधर गांव के लोग भी आ गए। सुभाष का बड़ा भाई व मां भी बेसुध हो गए। गांव के लोगों ने किसी तरह संभाला। सचेंडी थाना प्रभारी योगेश सिंह ने बताया कि हादसे की जानकारी हुई है। दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। शनिवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द किया जाएगा।

दोनों का था फौजी बनने का सपना

मृतक के चचेरे भाई नीरज ने बताया सुभाष दो माह पूर्व महाराजपुर में हुई ITBP की सीधी दौड़ भर्ती में पास वहीं आशीष भी अर्मापुर में अग्निवीर की परीक्षा में दौड़ लगा चुका था। दोनों का एक साथ परिवार में फौजी बनने का सपना था। जिसको लेकर रात-दिन एक किए हुए थे। घटना से दोनों घरों के साथ गांव में मातम छा गया। गांव के सैकड़ों लोग दोनों के घरों पर मौजूद रहे। सेना की मेडिकल वाली दो डिब्बों की ट्रेन गुजर रही थी। इसी की चपेट में दोनों युवक हादसे का शिकार हुए हैं। दो डिब्बों की ट्रेन में आवाज़ बहुत कम होती है।और रनिंग के बाद रेलवे ट्रैक पर आराम कर रहे दोनों समझ नहीं सके और हादसे का शिकार हो गए।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story