Top

संवासिनी गृह में मौत: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, रेप के बाद की गई थी हत्या

aman

amanBy aman

Published on 5 Jan 2018 12:09 PM GMT

संवासिनी गृह में मौत: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, रेप के बाद की गई थी हत्या
X
प्रतीकात्मक फोटो
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: जिले के महिला संवासिनी गृह में राजकीय अभिरक्षा में रह रही एक युवती की मौत के बाद आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने कानपुर से लेकर लखनऊ तक सरकारी महकमे में हड़कंप मचा दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया गया है कि महिला के शरीर पर चोटों के कई निशान हैं। उसके प्राइवेट पार्ट में भी बाल मिले थे जिससे संदेह किया जा रहा था कि हत्या से पहले उसके साथ रेप हुआ था। इस मामले की जांच में जुटे बाल विकास पुष्टाहार के निदेशक ने संवासिनी गृह के इंचार्ज व प्रशिक्षक को निलंबित कर दिया है।

क्या है मामला?

कानपुर के राजकीय संवासिनी गृह से बीते मंगलवार को एक युवती को घायल अवस्था में हैलट अस्पताल ले जाया गया था। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। गुरुवार की शाम डॉक्टरों के पैनल द्वारा पोस्टमार्टम जो रिपोर्ट पेश की गई, वो काफी चौंकाने वाली थी। रिपोर्ट में बताया गया था, कि युवती के साथ रेप के बाद उसकी हत्या की गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद से सरकारी महकमे में हड़कंप मचा है।

संवासिनी गृह की निदेशक, इंचार्ज निलंबित

इस मामले में बाल विकास व पुष्टाहार के निदेशक रामकेवल ने कानपुर पहुंचकर जांच पड़ताल की। निदेशक ने अपनी जांच में महिला संवासिनी गृह की इंचार्ज बीनू श्रीवास्तव व प्रशिक्षक मीना को दोषी पाया और दोनों को निलंबित कर दिया।

बाल का होगा डीएनए टेस्ट

राजकीय संवासिनी गृह में युवती के साथ हुई घटना पर कानपुर के डीएम सुरेन्द्र सिंह ने कहा, कि 'मामले की गंभीरता को देखते हुए मजिस्ट्रेट जांच की जाएगी। पुलिस सभी पहलू पर नजर रखकर जांच कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर केस दर्ज हुआ है। महिला के प्राइवेट पार्ट से बाल मिले हैं। उसका डीएनए टेस्ट कराया जाएगा, ताकि पता चल सके कि वह युवती के हैं या किसी और के।'

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story