Top

सर्दी ने कम की बाघ की दहाड़, झुंड में दुबके हिरण, बेहाल हैं बेजुबान

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 22 Jan 2016 9:46 AM GMT

सर्दी ने कम की बाघ की दहाड़,  झुंड में दुबके हिरण, बेहाल हैं बेजुबान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: कड़ाके की ठंड व बढ़ती गलन में जहां इंसानों का बुरा हाल है, वहीं जानवर भी काफी परेशान हैं। तापमान में लगातार आ रही गिरावट से चिड़ियाघर के जानवरों का हाल कुछ यूं देखने को मिला। बाघ की दहाड़ से जहां सबके पसीने छूटते थे, सर्दी की मार से वहीं बाघ बिलों में दुबके नजर आए। हमेशा उछल-कूद करने वाले हिरन भी ठंड के मारे झुंड में शांत दिखे। प्रशासन ने शहर में 24 घंटे अलाव की व्यवस्था कराई है, लेकिन इन बेजुबान जानवरों के लिए क्या इंतजाम है इसका जायजा लिया गया।

ठंड से वन्यप्राणियों का है बुरा हाल

* कपकपाती सर्दी से इंसान ही नहीं बेजुबान भी खस्ताहाल है।

* चिड़ियाघर में बंद वन्यप्राणियों के लिए सर्दी से निजात पाने का कोई ठोस इंतजाम नहीं दिखा।

* बाघ, हिरण सभी ठंड से जद्दोजहद करते दिखे।

प्रशासन ने क्या कहा?

* जू-प्रशासन के मुताबिक इस ठंड से जानवरों को बचाने के लिए बाड़े में अलाव जलाया जा रहा है।

* चिड़ियों के बाड़े को पॉलिथीन से ढ़क दिया गया है, जिससे उनको ठंड से बचाया जा सके।

* जानवरों की खुराक भी बढ़ा दी गयी है।

* जानवरों के बाड़े के अंदर हीटर और ब्लोअर का भी इंतजाम किया गया है।

[su_slider source="media: 4874,4875,4876,4883,4882,4881,4880,4879,4878,4877" width="620" height="440" title="no" pages="no" mousewheel="no"]

Newstrack

Newstrack

Next Story