Top

पुलिस से भिड़े कांवड़िए, कंट्रोल रूम में सोते रहेे कर्मचारी, CO ने अकेले संभाला मोर्चा

aman

amanBy aman

Published on 8 Aug 2016 10:17 AM GMT

पुलिस से भिड़े कांवड़िए, कंट्रोल रूम में सोते रहेे कर्मचारी, CO ने अकेले संभाला मोर्चा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेली: अलखनाथ मंदिर में सोमवार को जलाभिषेक के लिए डाक कांवड़ ले जाने को लेकर पुलिस से हुए विवाद के बाद कांवड़ियों ने जमकर बवाल काटा। इस दौरान कंट्रो्ल रूम को कई बार फोन किया गया लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। मौके पर सीओ सेेकेन्ड स्नेहलता ने कुड सिपाहियों के साथ अकेले ही मोर्चा सभाला। एसएसपी ने कन्ट्रोल रुम की लापरवाही को बड़ी चूक माना है। घटना किला थानाक्षेत्र अलखनाथ मंदिर के सामने की है।

कंट्रोल रूम की लापरवाही

अति संवेदनशील जिला होने के बाबजूद सिटी कन्ट्रोल रूम की लापरवाही सामने आई है। कावरियों को काबू करने के लिए मौके पर पर्याप्त फोर्स नहीं था। लिहाजा अधिकारी फोर्स बुलाने के लिए वायरलेस पर चीखते रहे। मगर कन्ट्रोल रूम मानो कुम्भकरण की नींंद सो गया। मौके पर सीओ सेेकेन्ड स्नेहलता ने कुड सिपाहियों के साथ अकेले ही मोर्चा सभाला। एसएसपी ने कन्ट्रोल रुम की लापरवाही को बड़ी चूक माना है।

एसएसपी ने सख्त रुख अपनाते हुए कन्ट्रोल रुम में तैनात 5 पुलिस कर्मियों से जबाब तलब किया है। इससे महकमे में हड़कमप मचा हुआ है। इस मामले की जांच एसपी क्राइम विजय गौतम को सौपी गई है।

याद रहे, बुलंंदशहर के चरचित हाइवे गैंगरेप कांड में पीड़ित परिवार ने चार बार 100 नंंबर डायल करके कन्ट्रोल रुम को सूचना देने का प्रयास किया था, लेकिन फोन नहीं उठा था।

जमकर काटा बवाल

बताया जा रहा है कि आज कुछ डाक कांवड़िये भागते हुए जा रहे थे। ड्यूटी पर लगे पुलिसकर्मियों ने उन्हें उपद्रवी समझ एक कांवड़िये को पुलिसकर्मी के थप्पड़ जड़ दिया। इससे शेष कांवड़िये नाराज हो गए। देखते ही देखते बवाल शुरू हो गया। नाराज कांवड़ियों ने पुलिस बाइक में आग लगा दी और पुलिस जीप पर पथराव किया।

आला अधिकारी मौके पर पहुंचे

मंदिर से बाहर आकर कांवड़ियों ने पुलिस जीप को पलट दिया। कांवड़ियों और पुलिसकर्मियों के बीच जमकर मारपीट हुई। जान बचाने के लिए पुलिसकर्मियों को जान बचाकर भागना पड़ा। बढ़ते बवाल की खबर मिलते ही एसएसपी और आईजी भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने समझा-बुझाकर हंगामा शांत कराया। अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद किसी तरह मामला शांत हुआ। एहतियातन पुलिस बल की तैनात की गई है।

क्या कहा आईजी ने ?

आईजी ने मीडिया से कहा, 'जल चढ़ाने को लेकर कांवड़िये आपस में झगड़ रहे थे। पुलिस के हस्तक्षेप से ये भड़क गए। धीरे-धीरे हालात बेकाबू हो गया। फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है।

-------2

------7

------6

bareli

barelly-8

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story