Top

बांदा में भूख से मौत पर केशव बोले- सपा सरकार राहत देने में हुई फेल

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 4 May 2016 5:41 PM GMT

बांदा में भूख से मौत पर केशव बोले- सपा सरकार राहत देने में हुई फेल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: बांदा जिले में एक किसान की भूख से मौत के मामले ने राजनीतिक रंग ले लिया है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने अखिलेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह सरकार पूरी तरह से असफल है। प्रदेश में भूख से अन्नदाता की मौत से दुखद और शर्मनाक और क्या हो सकता है?

बताते चलें कि बीते मंगलवार को बांदा जनपद के नरैनी तहसील के ऐला गांव के मंगूसपुरवा के दलित नन्थू की भूख से मौत का मामला सामने आया था। इसके अलावा हमीरपुर के उमरी गांव के किसान रमेश ने आत्महत्या कर ली।

सरकार किसानों तक राहत पहुचाने में फेल

-बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में दलित के घर चार दिन से चुल्हा नहीं जला है।

-सरकार और उससके अधिकारियों को इस बात की फिक्र तक नहीं है।

-जिम्मेदार लोग सिर्फ बयान देकर अपनी औपचारिकता पूरी करते हैं।

-किसान की मौत सपा सरकार की असफलता का प्रमाण है।

-प्रदेश सरकार ने बुंदेलखंड में किसानों तक राहत पहुंचाने में कामयाब नहीं हो पाई है।

सरकार तय करें जवाबदेही

-केशव ने कहा-सिर्फ बयान नहीं, जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की जाए। जवाबदेही तय हो।

-भूख से मौत जैसी संवेदनशील घटनाओं के प्रति जबावदेही तय करने में सरकार पूरी तरह फेल है।

-मुख्यमंत्री जी केवल बयान देकर डीएम/एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई की बात कहकर पल्ला झाड़ लेते हैं।

-एक भूमिहीन दलित के घर चार दिन से चूल्हा नहीं जल रहा है, और प्रशासन तंत्र इतना संवेदनहीन कि उसे खबर तक नहीं।

सीएम ने दी आर्थिक मदद

-यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने बांदा में नत्थू की मौत पर दुख जताते हुए उसके आश्रितों के लिए 5 लाख रुपए की आर्थिक मदद मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं।

-राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश सरकार ने बुंदेलखंड क्षेत्र में सूखे से निपटने और इस क्षेत्र के गरीबों की मदद के लिए प्रभावी कदम उठाए हैं।

Newstrack

Newstrack

Next Story