Top

जौनपुर में अपहरण के बाद बच्चे की निर्मम हत्या, मांगी थी 7 लाख की फिरौती

थाना शाहगंज क्षेत्र स्थित अयोध्या मार्ग से पैसे के लिए अपहृत सात वर्षीय बालक अभिषेक की अपहरण कर्ता द्वारा हत्या कर दिया गया है। बच्चे की तलाश कर रही पुलिस को बच्चे की लाश मिलने पर कोहराम मच गया है।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 3 Jan 2021 3:32 AM GMT

जौनपुर में अपहरण के बाद बच्चे की निर्मम हत्या, मांगी थी 7 लाख की फिरौती
X
जौनपुर में फिरौती के लिए बच्चे की हत्या, अपहरणकर्ताओं की हुई गिरफ्तार
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जौनपुर। थाना शाहगंज क्षेत्र स्थित अयोध्या मार्ग से पैसे के लिए अपहृत सात वर्षीय बालक अभिषेक की अपहरण कर्ता द्वारा हत्या कर दिया गया है। बच्चे की तलाश कर रही पुलिस को बच्चे की लाश मिलने पर कोहराम मच गया है। अपहरण कर्ता और हत्यारा बच्चे का शिक्षक ही निकला हलांकि पुलिस हत्यारो की गिरफ्तारी कर उन्हें कारित अपराध के ज़ुर्म में जेल भेज रही है।

शिक्षक ही बना कातिल

शिक्षक समाज के उपर जन मानस अटूट विश्वास करते हुए अपने कलेजे के टुकड़े को पूरी निश्चिन्तता के साथ उसके हवाले करता है लेकिन जब शिक्षक ही कातिल बन जाये तो आखिर बच्चों की सुरक्षा कैसे संभव है कुछ ऐसा ही वाकया इस घटना मे देखने को मिला है।

सात साल के मासूम अभिषेक को ट्यूशन पढ़ने जाते समय उसका शिक्षक ही रास्ते से उठा कर ले गया और उसके बाद फोन से मैसेज कर परिजनों से 7 लाख रुपये की फिरौती मांगी। जब बच्चे ने शोर मचाया तो शिक्षक ने ही अपराध करते हुए मोफलर से गला घोंट कर मासूम की हत्या कर दिया। पुलिस की जांच व पूछताछ की कार्यवाही जब तक होती तब तक अपहरण कर्ता ने मासूम को काल के गाल में पहुंचा दिया।

ये भी पढ़ेंः झांसी का टॉप-10 अपराधी: एनकाउंटर में चढ़ा हत्थे, इन बदमाशों की भी खुली हिस्ट्रीशीट

ऐसे उतारा मौत के घाट

जिले के शाहगंज कोतवाली के पैथोलॉजी संचालक दीपचंद यादव के 7 वर्षीय अभिषेक जो सुबह नित्य की भांति करीब 10 बजे अपने घर से कुछ ही दूरी पर ट्यूशन पढ़ने के लिए निकला था। लेकिन इस मासूम को जो इसके पूर्व में बच्चे को ट्यूशन पढ़ाता था टीचर जो आईटीआई का छात्र भी है। उसने ट्यूशन जाते समय ही बाइक पर अभिषेक को बैठा लिया क्योकि अभिषेक उनको पहचानता था । वो उसकी गाड़ी पर बैठ गया वही घटनास्थल से भाग कर जमुनिया के पानी टँकी पर छात्र को ले गए लेकिन जब उसने शोर शराबा करने लगा तो दोनों बदमाशो ने गला घोंट कर मासूम अभिषेक को मौत की नींद सुला दिया।

उसके बाद एक युवक से मोबाइल छीनकर पहले फिरौती के लिए 7 लाख रुपये की फिरौती मांगी और उसके बाद मोबाइल बेच कर एक नई मोबाइल भी आरोपियों ने खरीदी,जब तक पुलिस के हाथ इनके गिरेबान तक पहुँचते तब तक बदमाशो ने मासूम की निर्मम हत्या कर दी थी।

ये भी पढ़ें : बच्चे की जान खतरे में: जौनपुर में हुआ अपहरण, मांगी गई 7 लाख की फिरौती

दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी

इस संदर्भ में पुलिस अधीक्षक ने बयान जारी करते हुए बताया है कि इस घटना में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है इनके खिलाफ शाहगंज कोतवाली में अपहरण व फिरौती का मुकदमा दर्ज है और गम्भीर कार्यवाही जौनपुर पुलिस द्वारा किया जा रहा है वही मासूम के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। पुलिस ने दो आरोपी शिवम कुमार श्रीवास्तव व आकाश को गिरफ्तार कर लिया गया है जिनके ऊपर सरपतहां व शाहगंज में मुकदमा दर्ज कराया गया। इस घटना ने एक बार फिर कानून व्यवस्था को सवालों के कटघरे में खड़ा किया है।

कपिल देव मौर्य जौनपुर

Monika

Monika

Next Story