×

जहरीली शराब कांड: SIT जांच की टीम पहुंची कुशीनगर, गांव वालों का आरोप- पूरी बात नहीं सुनी

कुशीनगर जनपद में जहरीली शराब कांड में 11 लोगों की मौत के बाद यूपी सरकार की तरफ से गठित एसआईटी जांच की टीम आज तरयासुजान थाना क्षेत्र के उन अलग-अलग गाँवों में पहुँची,जहां जहरीली शराब पीने से लोगों की मौत हुई थी।जांच करने एसआईटी की पांच सदस्यीय टीम के सदस्य पहुंचे।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 19 Feb 2019 2:09 PM GMT

जहरीली शराब कांड: SIT जांच की टीम पहुंची कुशीनगर, गांव वालों का आरोप- पूरी बात नहीं सुनी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

गोरखपुर: कुशीनगर जनपद में जहरीली शराब कांड में 11 लोगों की मौत के बाद यूपी सरकार की तरफ से गठित एसआईटी जांच की टीम आज तरयासुजान थाना क्षेत्र के उन अलग-अलग गाँवों में पहुँची,जहां जहरीली शराब पीने से लोगों की मौत हुई थी।जांच करने एसआईटी की पांच सदस्यीय टीम के सदस्य पहुंचे। जहरीली शराब कांड में गठित सरकार की तरफ से स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम में एक एडीजी,दो कमिश्नर सहित दो आईजी शामिल है।एसआईटी की जांच टीम को मीडिया के कैमरें से भी दूर रखा गया।

जहरीली शराब कांड: SIT जांच की टीम पहुंची कुशीनगर, गांव वालों का आरोप- पूरी बात नहीं सुनी

यह भी पढ़ें......SIT करेगी जहरीली शराब कांड की जांच, 10 दिन में रिपोर्ट देने के निर्देश

बता दे कि एसआईटी टीम के पहुँचने से प्रशासनिक अमले में जहां हड़कंप मचा हुआ है।वहीं अवैध शराब कारोबार सें जुड़े माफियाओं के भी होश उड़ गये हैं। बीते 6/7 फ़रवरी को जहरीली शराब कांड ने वो तांडव मचाना शुरू किया जिसमें 12 फरवरी 3 मौतों की शुरुआत के बाद 11 लोगों की मौत व आधा दर्जन लोग बीमार भी हुए थे।जिनका इलाज जारी रखा गया। घटना होने के बाद डीएम और एसपी ने मौके का जायज़ा लेने के साथ घटना स्थल के स्थानीय थानाध्यक्ष तरयांसुजान व हल्का दारोगा सहित 5 पुलिसकर्मियों के खिलाफ कठोरता से कार्यवाही करते हुए सभी को निलंबित कर दिया।प्रशासन की निलम्बन की कार्यवाही ने पूरे पुलिस फोर्स में खलबली मचा दी थी।

यह भी पढ़ें......यूपी-उत्तराखंड में जहरीली शराब से 100 से ज्यादा की मौत, 175 आरोपी गिरफ्तार

आपको बता दे कि शासन की यह कार्यवाही यहीं नहीं रुकी बल्कि इस घटना के बाद जिला आबकारी के अधिकारी पर भी बड़ी कार्यवाही हुई जिन्हें तत्काल सस्पेंड कर दिया गया। इतना ही नहीं शासन से तमकुहीराज के क्षेत्राधिकारी को भी निलंबित कर दिया गया। वहीं क्षेत्र के शराब माफियाओं के खिलाफ पुलिस बड़े पैमानें पर कार्यवाही में जुट गयी। जिसके तहत शराब कांड से जुड़े आरोपियों की धर पकड़ भी शुरू कर दी गई। शराब कांड सें जुड़े आधा दर्जन लोगों को गिरफ्तार भी किया गया और सभी को जेल भी भेजा गया।

यह भी पढ़ें......जानें जहरीली शराब से हुई मौत पर ​प्रियंका गांधी और मायावती ने क्या कहा?

वहीं शराब कांड के मुख्य आरोपी को पुलिस ने राजस्थान के भीलवाड़ा से गिरफ्तार कर अन्य लोगों से जुड़े तार की बात भी सामने आई पर यह तार कहां तक फैला है यह बड़ा सवाल है। अब देखना यह होगा कि इस एसआईटी जांच में उन सफेद पोश के नाम खुलते है या बन्द फाइलों में धूल फाँकेगें।वहीं दूसरी तरफ गांव में पहुँची एसआईटी टीम की जांच से गांव वाले संतुष्ट नहीं दिखे और आरोप लगाया कि जांच टीम ने हमारी पूरी बात नहीं सुनी बल्कि एक खानापूर्ति कर वापस चली गई।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story