×

SIT करेगी जहरीली शराब कांड की जांच, 10 दिन में रिपोर्ट देने के निर्देश

यूपी सरकार ने सहारनपुर और कुशीनगर में जहरीली शराब कांड की जांच का जिम्मा एसआईटी को सौंपने का निर्णय लिया है।सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर रविवार देर रात जहरीली शराब की घटनाओं की समग्र जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया। जांच दल को 10 दिन में अपनी रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए हैं।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 11 Feb 2019 6:54 AM GMT

SIT करेगी जहरीली शराब कांड की जांच, 10 दिन में रिपोर्ट देने के निर्देश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : यूपी सरकार ने सहारनपुर और कुशीनगर में जहरीली शराब कांड की जांच का जिम्मा एसआईटी को सौंपने का निर्णय लिया है।सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर रविवार देर रात जहरीली शराब की घटनाओं की समग्र जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया। जांच दल को 10 दिन में अपनी रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए हैं।

ये भी देखें : The Priyanka Effect : सपा-बसपा ने कांग्रेस को दिया 14 सीटों का ऑफर

सूत्रों ने बताया, एडीजी रेलवे संजय सिंघल, मंडलायुक्त गोरखपुर अमित गुप्ता, पुलिस महानिरीक्षक गोरखपुर जयनारायन सिंह, मंडलायुक्त सहारनपुर चंद्रप्रकाश त्रिपाठी और पुलिस महानिरीक्षक सहारनपुर शरद सचान एसआईटी के सदस्य हैं।

ये भी देखें : सीपीएम विधायक ने महिला IAS अधिकारी को कहे अपशब्द, पार्टी मांगेगी जवाब

जांच दल पीड़ित परिवारों से मिलकर घटना के विस्तृत कारणों का पता लगाएगा। यह भी छानबीन करेगा कि घटनाओं के पीछे कोई साजिश तो नहीं तथा इसके पीछे कौन कौन लोग हैं। इसके साथ ही जांच दल पूर्व में हुई ऐसी घटनाओं की समीक्षा करेगा। आबकारी विभाग, प्रशासन और पुलिस द्वारा की गई कार्यवाई की समीक्षा करेगा और दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाई की संस्तुति करेगा। ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो, विशेष अनुसंधान दल इस सम्बन्ध में भी संस्तुति करेगा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story