×

प्रेमी की हत्या कर 24 घंटे तक फ्रीज में छिपाई थी लाश, ऐसे किया पुलिस ने खुलासा

एक महिला ने अपने भाई के साथ मिलकर अपने आशिक की हत्या कर दी। फिर शव को 24 घंटे तक फ्रीज में छिपा कर रखा। यही नहीं महिला अपने मृत आशिक के घर पर शोक जताने के लिए गई। फिर पुलिस उसे पकड़ न ले इसके लिए खुद ही एसएसपी और डीएम के बंगले पर जाकर खुद हत्या मामले में झूठा फंसाए जाने की शिकायत की।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 29 Sep 2017 7:56 AM GMT

प्रेमी की हत्या कर 24 घंटे तक फ्रीज में छिपाई थी लाश, ऐसे किया पुलिस ने खुलासा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

सहारनपुर: पुलिस ने एक हत्या के मामले का ऐसा सनसनीखेज खुलाासा किया है। जिसे सुनकर न केवल आपके पैरों तले की जमीन खिसक जाएगी, बल्कि आप पूरी तरह से हैरान भी हो जाएंगे।

एक महिला ने अपने भाई के साथ मिलकर अपने आशिक की हत्या कर दी। फिर शव को 24 घंटे तक फ्रीज में छिपा कर रखा। यही नहीं महिला अपने मृत आशिक के घर पर शोक जताने के लिए गई। फिर पुलिस उसे पकड़ न ले इसके लिए खुद ही एसएसपी और डीएम के बंगले पर जाकर खुद हत्या मामले में झूठा फंसाए जाने की शिकायत की।

क्या था मामला?

आपको बता दें, 26 सितंबर की सुबह अंबाला रोड रेलवे मार्ग पर थाना कुतुबशेर पुलिस को एक युवक का शव रेलवे ट्रेक के किनारे झाड़ियों में पड़ा मिला था। इस युवक की शिनाख्त मैदा मिल फाटक इंदिरा कालोनी निवासी 25 वर्षीय आतीश पुत्र राकेश कुमार के रूप में हुई थी। शव मिलने के बाद से ही पुलिस हत्यारों की तलाश में जुट गई थी। इसी दिन एक महिला पहले एसएसपी और बाद में डीएम बंगले में पहुंची। फिर रेलवे ट्रेक के किनारे मिले शव में उसे झूठा फंसाए जाने की बात कहते हुए दोनों अधिकारियों को प्रार्थना पत्र दिया। एसएसपी के आवास पर प्रार्थना पत्र रिसीव करने वाले वाले अधिकारी को कुछ शक हुआ तो थाना कुतुबशेर पुलिस को इस बाबत जानकारी दी गई। जिसके बाद जांच प्रांरभ की गई तो पता चला कि जो महिला प्रार्थना पत्र देकर गई है, उसके मृतक से प्रेम संबंध चल रहे थे।

एसपी सिटी ने किया खुलासा

एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह ने पुलिस लाइन स्थित सभागार में प्रेस वार्ता के दौरान इस हत्याकांड का खुलासा किया। एसपी सिटी ने बताया कि मैदा मिल फाटक इंदिरा कॉलोनी निवासी आतीश पुत्र राकेश कुमार का शव 26 सितंबर की सुबह शिवपुरी श्मशान घाट के निकट रेलवे ट्रैक किनारे पड़ा मिला था। पहले यह आत्महत्या या दुर्घटना का मामला लग रहा था।

पुलिस को जांच में मृतक के शिवपुरी निवासी महिला सीमा पूर्व निक्की पत्नी टीटू से अवैध संबंध होने का पता चला, जो अपने पति से अलग रह रही थी। साथ ही यह भी जानकारी मिली कि इन संबंधों को लेकर महिला के परिजनों से आतीश का पहले भी झगड़ा हो चुका है। जब महिला से जब पूछताछ की गई तो पूरा मामला खुल गया।

फ्रिज में रख कर ले गए शव

जानकारी मिली कि 24 सितंबर की शाम आरोपी महिला सीमा और उसका भाई मांगा आतीश को घर पर बुलाकर सीमा कमरे पर ले गए थे। जहां संबंधों को लेकर मांगा और आतीश के बीच विवाद हुआ और फिर मांगा ने सीमा की मौजूदगी में ही उसकी चुनरी से आतीश का गला घोंटकर हत्या कर दी और दो दिन तक शव को फ्रिज में छुपाकर रखा गया। 25 सितंबर की देर रात फ्रिज को रेहड़ी में रखकर रेलवे ट्रैक किनारे ले जाया गया। फिर फ्रीज से निकाल कर शव को रेलवे ट्रैक के किनारे फेंक दिया गया।

एक आरोपी फरार

इस वारदात को अंजाम देने के लिए मांगा के दो सहयोगी भोला पुत्र मुन्नीलाल और शिव कुमार पुत्र सूरजमल का भी हाथ रहा। एसपी सिटी ने बताया कि सीमा और शव को ठिकाने लगाने के दोनों आरोपी भोला और शिव कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि मुख्य हत्यारोपी मांगा अभी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सका है।

आत्महत्या दर्शाने के लिए ट्रैक किनारे फेंका

आरोपियों ने रेलवे ट्रैक किनारे ले जाकर इसलिए फेंका जिससे यह आत्महत्या का मामला लगे। शुरू में पुलिस भी इसे दुर्घटना अथवा आत्महत्या का ही मामला समझ रही थी।

पीएम रिपोर्ट ने पूरा मामला खोल कर रख दिया। इसमें मृत्यु का कारण गला घुटने से मौत होना और मृत्यु का समय 2

दिन पहले का होने से पूरा मामला पुलिस ने पूरा मामला खोल कर रख दिया। जांच में पुलिस के सामने यह बात भी आई कि पिछले 15 दिन से आतीश लगातार सीमा से मिलने रात के समय उसके कमरे पर जा रहा था और इसकी भनक महिला के परिजनों को भी लग गई थी। जिसके बाद इस हत्याकांड को कमरे पर ही अंजाम दिया गया।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story