Top

लेडी होमगार्ड से जिला कमांडेंट-बीओ ने किया गैंगरेप, नहीं लिखी गई FIR

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 4 Feb 2016 5:46 AM GMT

लेडी होमगार्ड से जिला कमांडेंट-बीओ ने किया गैंगरेप, नहीं लिखी गई FIR
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Raj Kumar Upadhyay

लखनऊ: एक महिला होमगार्ड ने अपने जिला कमांडेंट और ब्लॉक ऑर्गनाइजर (बीओ) पर धोखे से बुलाकर गैंगरेप का आरोप लगाया है। विक्टिम ने सीनियर ऑफिसर्स से लेकर मंत्री तक से इसकी शिकायत की, लेकिन आरोपी को सजा दिलाने की बजाय सभी उसे बचाने में जुट गए हैं। आरोपियों के खिलाफ अब तक एफआईआर भी नहीं लिखी गई है। विक्टिम को जान से मारने की धमकी भी दी जा रही है। बड़ा सवाल यह है कि जब पुलिस महकमा अपने ही महिलाकर्मी की अस्मत से खेल रहा है तो आम लोगों को कौन बचाए?

इस तरह दिया धोखा

-महिला होमगार्ड पूजा (काल्पनिक नाम) की ड्यूटी डीएम मऊ के घर पर है।

-पिछले महीने मोटरसाइकिल पंचर होने के कारण उसे ऑफिस पहुंचने में देरी हो गई तो गैरहाजिरी दर्ज कर दी गई।

-पूजा ने इसका विरोध किया तो वहां के ब्लॉक ऑर्गनाइजर (बीओ) गुलाब सिंह ने कहा कि जिला कमांडेंट होमगार्ड अरूण कुमार सिंह ने उन्हें बुलाया है।

-उनसे बात कर लो तो आपकी हाजिरी लग जाएगी।

-वह उसे कमांडेंट से मिलाने के बहाने पास ही एक सुनसान घर में लेकर गया।

-पूजा घर के अंदर गई तो बीओ ने उसके साथ छेड़खानी शुरू की। वहां से भागने का प्रयास किया, बीओ ने धक्का देकर महिला को कमरे में बंद कर दिया।

गैंगरेप के बाद मारने की भी कोशिश

-विक्टिम होमगार्ड के मुताबिक, जब वह कमरे में गिरी तो वहां कमांडेंट अरूण कुमार सिंह एक युवती के साथ आपत्तिजनक हालत में थे।

-इसके बाद बीओ और कमांडेंट ने उसके साथ गैंगरेप किया और जान से मारने की भी कोशिश की।

-किसी तरह वह जान बचाकर भाग गई। इस प्रयास में उसकी वर्दी फट गई और काफी चोटें भी आईं।

letter

कर्ल्क ने कमांडेंट का शिकायत से हटाया, जान से मारने की धमकी

-पूजा का कहना है कि आरोपी उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं।

-उसने एसोसिएशन और विभागीय मंत्री समेत सीनियर्स ऑफिसर्स से शिकायत की।

-एक कर्ल्क ने कार्रवाई का भरोसा देकर सादे कागज पर उससे साइन करा लिया।

-उसने कमांडेंट का नाम शिकायती लेटर से हटाकर राज्य महिला आयोग समेत सीनियर ऑफिसर्स को भेजा।

-जब पूजा को इस बात का पता चला तो उसने दूसरा लेटर भेजा है।

ड्यूटी दिलाए जाने के नाम पर महिला होमगार्डों का होता है शोषण

-पूजा का कहना है कि पहले भी इन आरोपियों ने बहुत सी महिलाओं के साथ ड्यूटी दिलाने के नाम पर शोषण करते रहे हैं।

-उनकी रोजी-रोटी छीनने का भय दिखाकर मुंह बंद करा दिया जाता है।

क्या कहते हैं एसपी मऊ

-एसपी मऊ शिव प्रसाद उपाध्याय का कहना है कि डीएम इस मामले की मजिस्ट्रेटी जांच करा रहे हैं। जल्द ही सच सामने आएगा।

Newstrack

Newstrack

Next Story