Top

औरैयाः रामलीला मैदान पर कब्जे का आरोप, सपा विधायक पर उठी उंगली

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 9 Jun 2016 12:24 AM GMT

औरैयाः रामलीला मैदान पर कब्जे का आरोप, सपा विधायक पर उठी उंगली
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

औरैयाः मथुरा में जवाहर बाग पर कब्जे के मामले में सपा नेताओं पर तो आरोप लग ही रहे हैं। वहीं, औरैया के बिधूना कस्बे के रामलीला मैदान पर सपा विधायक के कब्जे का मामला सामने आया है। ये विधायक हैं प्रमोद शाक्य। शाक्य को सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह का करीबी बताया जाता है।

पूर्व मंत्री विनय शाक्य और रामलीला मैदान की जमीन दान में देने वाले किसान ने उन पर जमीन कब्जाने का आरोप लगाया है। दोनों ने यूपी के सभी अफसरों और डीजीपी को इस बारे में चिट्ठी भी लिखी है।

aur-kabja-2 विधायक निधि से रैन बसेरा बनवाए जाने का दस्तावेज

क्या है आरोप?

-बिधूना में सरकारी जमीन संख्या 708 और 711 रामलीला मैदान के नाम से दर्ज है।

-आरोपों के अनुसार प्रमोद गुप्ता ने नगर पंचायत अध्यक्ष रहते जमीन का पट्टा रामलीला समिति के नाम लिखवाया।

-इकरारनामे में नगर पंचायत अध्यक्ष और रामलीला समिति के अध्यक्ष के तौर पर अपनी फोटो लगाई।

-जमीन अभी भी डीएम के नाम से खतौनी में दर्ज है।

-जमीन पर 2012 में विधायक बनने के बाद प्रमोद गुप्ता ने विधायक निधि के करीब सवा करोड़ रुपए से रैन बसेरा बनवाया। उसमें वह रहते भी हैं।

aur-kabja-4 रामलीला समिति के नाम बने इकरारनामे पर विधायक की फोटो

किसान ने दान दी थी जमीन

-शिकायत में कहा गया है कि जमीन किसान प्रताप सिंह सेंगर ने प्रशासन को दान दी थी।

-उनके बेटे गिरेंद्र सिंह सेंगर ने जमीन पर विधायक प्रमोद गुप्ता के कब्जे की शिकायत की है।

-गिरेंद्र और पूर्व मंत्री विनय शाक्य ने आरोप लगाया है कि रैन बसेरा की बिल्डिंग में आए दिन डांस वगैरा भी कराया जाता है।

aur-kabja-3 विधायक की बनवाई बिल्डिंग के पीछे छिपी राम मनोहर लोहिया की मूर्ति

क्या कहना है प्रमोद गुप्ता का?

-आरोपी विधायक सारे मामले को भगवान राम की कृपा बताते हैं।

-रैन बसेरे में डांस को भी वह राम की कृपा बताकर टाल रहे हैं।

मीडिया पर भड़कीं डीएम

-डीएम माला श्रीवास्तव इस मामले में मीडिया पर ही भड़क गईं।

-पत्रकारों से आई कार्ड मांगा और जेल में बंद कराने की धमकी भी दी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story