×

Leopard in Meerut: मेरठ शहर में घूम रहा खतरनाक तेंदुआ CCTV में कैद, घरों में दुबके लोग

Meerut News: मेरठ शहर में फिर से तेंदुए ने दस्तक दे दी है। तेंदुआ टीपी नगर थाने के ज्वाला क्षेत्र में देखा गया है। वहीं दहशत से लोग घरों से निकलने में डर रहे हैं।

Sushil Kumar
Updated on: 3 Dec 2022 7:03 AM GMT
X

मेरठ: शहर में घूमता हुआ CCTV में कैद हुआ तेंदुआ, घरों में दुबके लोग

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Meerut News: उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में एक बार फिर तेंदुए का शोर मचा हुआ है। समाचार लिखे जाने समय तक स्थानीय वन विभाग के अफसरों ने तेंदुए की पुष्टि तो नहीं की है। लेकिन तेंदुए होने की संभावना से इंकार भी नहीं किया है। फिलहाल, पुलिस व वन विभाग के अफसरो ने इलाके के लोंगो को घरों के अंदर ही रहने की हिदायत दी है।

दरअसल,मेरठ शहर के थाना टीपी नगर क्षेत्र में एक घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज फुटेज में देर रात एक तेंदुए जैसा वन्यजीव दिखाई देने पर घर के मालिक ने उसकी सूचना पड़ोसियों और पुलिस को दी। घनी आबादी वाले इलाके में तेंदुए होने की सूचना शहर में आग की तरह फैल गई। लोग दहशत में आ गए। डर के मारे घटनास्थल इलाके के लोंगो ने आज सुबह अपने बच्चे भी स्कूलों में नहीं भेजे। पुलिस का कहना है कि रात ढाई बजे टीपी नगर थाने के पीछे ज्वाला नगर में तेंदुआ देखा गया। सीसीटीवी फुटेज में तेंदुआ एक कुत्ते को भी दौड़ाता भी दिख रहा है।

इस मामले में डीएफओ राजेश कुमार ने न्यूजट्रैक को बताय4 कि आज सुबह करीब 2.30 am के आसपास ज्वाला नगर टीपी नगर मेरठ में एक घर में लगे सीसीटीवी फुटेज में एक तेंदुए जैसा वन्यजीव दिखाई दिया है ।। जिसकी सूचना पुलिस द्वारा वन विभाग को सुबह 7.40 Am के आसपास सांझा की गई ।। वन विभाग मेरठ रेंज की पूरी टीम मौके पर पहुंचकर सर्च एवं कांबिंग ऑपरेशन चला रही है ताकि वन्यजीव के मूवमेंट एवं स्थान का पता लगाया जा सके।। पूरा ऑपरेशन SOP के अनुसार चलाया जा रहा है। लोगो को भी जागरूक किया जा रहा है की क्या करे और क्या नहीं (do's and don't )। Cctv footage चेक की जा रही है । खाली पड़े प्लॉट में भी कांबिंग की जा रही है ।।

बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब मेरठ में शहरी आबादी में तेंदुआ आया है। इससे पहले मेरठ शहर के अंदर कैंट अस्पताल, आबूलेन, मोदीपुरम आदि में तेदुए के घुसने की कई घटनाएं हो चुकी है। इसके अलावा ग्रामीण इलाको किठौर, हस्तिनापुर में तेंदुए देखा जा चुका है।

वन विभाग और पुलिस की टीम ने लोगों से की अपील

तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग की टीम पंजों के निशान के आधार पर तेंदुए को तलाश कर रही है। वन विभाग और पुलिस की टीम ने लोगों से घरों में रहकर सावधानी बरतने की अपील की है।

कब-कब आया शहर में तेंदुआ

- अगस्त और नवंबर 2020 में गाजियाबाद में दो बार तेंदुआ आया

- लॉकडाउन के दौरान बुलंदशहर में तेंदुए का मेरठ वन विभाग की टीम ने रेस्क्यू किया

- 23 मार्च 2020 को परतापुर के गगोल के समीप रात में तेंदुआ दिखाई दिया

- भूड़बराल के जंगल में अप्रैल 2018 में तेंदुआ देखे जाने की ग्रामीणों ने सूचना दी थी

- सितंबर 2017 में सरधना क्षेत्र में करनाल हाईवे पर आए तेंदुए की दुर्घटना में मौत हुई

- अप्रैल 2016 में तेंदुआ छावनी क्षेत्र स्थित सैन्य अस्पताल में पहुंच गया

- फरवरी 2014 में आबूलेन पर कई दिन तक तेंदुआ घूमता रहा

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story