×

Meerut News: 26 जून से लापता एलएलबी के छात्र यश रस्तोगी का शव नाले में मिला, अभियुक्तों से पूछताछ जारी

Meerut News: मेरठ के एलएलबी के छात्र यश रस्तोगी का शव शनिवार देर रात लिसाड़ी गेट (Lisadi Gate) के पिलोखड़ी पुलिस चौकी के पास स्थित सद्दीक नगर के नाले से पुलिस ने बरामद कर लिया।

Sushil Kumar
Updated on: 3 July 2022 9:35 AM GMT
Missing LLB student Yash Rastogis body found in drain since June 26, interrogation of accused continues
X

मेरठ: लापता एलएलबी के छात्र यश रस्तोगी का शव नाले में मिला

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Meerut News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मेरठ के एलएलबी के छात्र यश रस्तोगी का शव शनिवार देर रात लिसाड़ी गेट (Lisadi Gate) के पिलोखड़ी पुलिस चौकी (Pilokhari Police Outpost) के पास स्थित सद्दीक नगर के नाले से पुलिस ने बरामद कर लिया। जागृति विहार निवासी यश रस्तोगी 26 जून को यश लापता हुआ था। मेडिकल थाने में उसका मुकदमा दर्ज था। घटना के संबंध में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का कहना है कि यश की हत्या क्यों की गई इस बारे में अभी स्पष्ट नही हो सका है। इस बारे में अभियुक्तों से पूछताछ जारी है।

थाना मेडिकल इंस्पेक्टर संत शरण सिंह (Police Station Medical Inspector Sant Sharan Singh) ने बताया कि इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपी सोनू उर्फ सलमान, शाहवेज व अलीजान को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी अभियुक्तों से अभी पूछताछ की जा रही है। हालांकि घटना के बारे यह संभावना भी जताई जा रही है कि मृतक यश गे सोसायटी का सदस्य था और उसके काफी लोगों से समलैंगिंक संबंध थे।

ब्लैकमेल करने के चक्कर में हत्या

एक युवक को ब्लैकमेल करने के कारण उसके साथियों ने उसकी हत्या कर दी है। इस बारे में घटना की जांच कर रही पुलिस ने कहा है कि इसको संभावना माना जा सकता है। हालांकि इसको अभी पक्के तौर पर नही कहा जा सकता है।

यश रस्तोगी पुत्र अनिल रस्तोगी एनएएस कॉलेज में एलएलबी प्रथम वर्ष का छात्र था। गत 26 जून शुक्रवार से संदिग्ध परिस्थितियों में लापता था। परिजनों ने अनहोनी की आशंका जताते हुए थाना मेडिकल में गुमशुदगी दर्ज करा दी थी। उसी दिन से पुलिस लगातार यश की तलाश कर रही थी। कई जगह सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए, लेकिन यश का कहीं पता नहीं लगा। पुलिस ने फिर से सीसीटीवी कैमरों को खंगालना शुरू किया तो यश की लोकेशन फतेहउल्लापुर रोड स्थित एक कारखाने में मिली। यह कारखाना शावेज नामक युवक का था।

पूछताछ करने पर मामला खुला

पुलिस ने शावेज को उठाकर पूछताछ की तो पूरा मामला खुलता चला गया। शावेज ने बताया कि यश का उसके साथ झगड़ा हो गया था। तब शावेज ने अपने कढ़ाई केन्द्र में काम करने वाले सलमान और ठेकेदार अलीजान की मदद से यश की गला दबाकर हत्या करने के बाद उसके मुंह में कपड़ा ठूंस कर शव को बोरे में भर कर नाले में फेंक दिया था।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story