×

Loksabha Election 2024: अखिलेश यादव और केशव मौर्य के बीच हुआ ये बड़ा फैसला, बढ़ेगा सियासी पारा!

Loksabha Election 2024: उत्तर प्रदेश लोकसभा चुनाव - 2024 को लेकर प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी के मुखिया एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बड़ा फैसला लिया है।

Rajnish Verma
Written By Rajnish Verma
Published on: 2 April 2024 1:27 PM GMT (Updated on: 2 April 2024 1:28 PM GMT)
Akhilesh Yadav
X

Akhilesh Yadav (Photo - Social Media)

Loksabha Election 2024: उत्तर प्रदेश लोकसभा चुनाव - 2024 को लेकर प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी के मुखिया एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बड़ा फैसला लिया है। पहले चरण के मतदान से ठीक पहले उन्होंने महानदल के साथ गठबंधन कर लिया है। उन्होंने महान दल को दो सीटें देने का ऐलान भी कर दिया है, हालांकि उनके दोनों प्रत्याशी समाजवादी पार्टी के ही चुनाव चिन्ह पर मैदान में उतरेंगे।

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले समाजवादी पार्टी और महान दल के एक साथ आ जाने अखिलेश यादव को कुछ फायदा मिल सकता है। समाजवादी पार्टी को समर्थन देने के बाद महान दल के मुखिया केशव देव मौर्य ने कि लोकसभा चुनाव में गठबंधन मजबूती से लड़ेगा। उन्होंने कहा कि वह समाजवादी पार्टी के साथ थे और आगे भी रहेंगे। उन्होंने कहा कि उनका झगड़ा स्वामी प्रसाद मौर्य से था, इसलिए वह दूर हो गए थे। अब वह समाजवादी पार्टी में नहीं हैं, इसलिए हमने वापसी की है।


सपा अपने चुनाव चिन्ह पर उतारेगी मैदान में

केशव देव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के मुखिया एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की थी और हमने दो सीटों की मांग की थी। उन्होंने कहा कि महान के दोनों प्रत्याशियों को सपा अपने चुनाव चिन्ह से लड़ाएगी। उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव में समाजवादी पार्टी अपने पुराने जातिगत समीकरण को साधने के साथ ही गैर यादव, ओबीसी और दलित समाज को गोलबंद करने की कोशिश में फिर से जुट गई है। उन्होंने कहा कि महान दल के नेता और कार्यकर्ता मेहनत से जुटे हुए हैं। वहीं, जनता का आर्शीवाद समाजवादी पार्टी और महानदल गठबंधन के साथ है।

सपा ने वापस ले ली थी अपनी कार

बता दें कि पिछले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने केशव देव की पत्नी और उनके बेटे को अपनी पार्टी से टिकट दिया था, लेकिन वह दोनों हार गए थे। इसके बाद समाजवादी पार्टी ने राज्यसभा और विधान परिषद में केशव देव की पार्टी को हिस्सेदारी भी नहीं दी थी, जिससे उनका गठबंधन टूट गया था। गौरतलब है कि चुनाव के समय महान दल के मुखिया केशव देव को समाजवादी पार्टी ने एक फारर्च्यूनर कार दी थी, हालांकि गठबंधन टूटने के बाद उसे भी वापस ले लिया था।

चुनावी रथ का बताया था सारथी

विधानसभा चुनाव 2022 में महान दल के मुखिया केशव देव ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन किया था। समाजवादी पार्टी को उम्मीद थी कि केशव देव की पार्टी से गठबंधन का उन्हें चुनाव में फायदा मिलेगा, लेकिन उन्हें फायदा नहीं मिल सका था। सपा महासचिव रामगोपाल ने जातीय समीकरण को समझते हुए केशव देव मौर्य को चुनावी रथ सारथी बताया था। उन्होंने उनकी तुलना भगवान श्रीकृष्ण से कर दी थी।

Rajnish Verma

Rajnish Verma

Content Writer

वर्तमान में न्यूज ट्रैक के साथ सफर जारी है। बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय से पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की। मैने अपने पत्रकारिता सफर की शुरुआत इंडिया एलाइव मैगजीन के साथ की। इसके बाद अमृत प्रभात, कैनविज टाइम्स, श्री टाइम्स अखबार में कई साल अपनी सेवाएं दी। इसके बाद न्यूज टाइम्स वेब पोर्टल, पाक्षिक मैगजीन के साथ सफर जारी रहा। विद्या भारती प्रचार विभाग के लिए मीडिया कोआर्डीनेटर के रूप में लगभग तीन साल सेवाएं दीं। पत्रकारिता में लगभग 12 साल का अनुभव है। राजनीति, क्राइम, हेल्थ और समाज से जुड़े मुद्दों पर खास दिलचस्पी है।

Next Story