Top

IMPACT: बजट की अधिकांश धनराशि खर्च नहीं, नेता विपक्ष ने उठाया मुद्दा

Admin

AdminBy Admin

Published on 11 Feb 2016 10:54 AM GMT

IMPACT: बजट की अधिकांश धनराशि खर्च नहीं, नेता विपक्ष ने उठाया मुद्दा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: विधानसभा में गुरुवार को 27758.98 करोड़ का बजट भले ही राज्य सरकार ने पेश किया हो पर इस वित्त वर्ष के लिए पहले से ही जारी बजट में का काफी बड़ा हिस्सा खर्च नहीं कर पाई है। newztrack.com ने 6 फरवरी को यह मुद्दा उठाया था। अब विधानसभा में सप्लीमेंट्री बजट पेश करते समय नेता विपक्ष स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि ​​पूर्व में जारी किए गए बजट का अधिकांश हिस्सा अभी तक खर्च नहीं हो सका है और उन्होंने कई विभागों के अब तक खर्च किए गए आंकड़े गिनाएं।

और क्या कहा?

-मौर्या ने कहा-एक तरफ पूर्व में पारित बजट का सदुपयोग ही नहीं हुआ है और दूसरी ओर सरकार हजारों करोड़ का सप्लीमेंट्री बजट पेश कर रही है।

-कृ​षि विभाग का 2435 करोड़ का बजट था और अब जब यह वित्त वर्ष पूरा होने में डेढ माह बाकी हैं। इन्होंने सिर्फ 34.27 फीसदी धन ही खर्च किया है।

-इसी तरह पंचायती राज के बजट का सिर्फ 50.47 फीसदी ही खर्च किया जा सका है।

-पशुधन विभाग को 247 करोड़ का बजट आवंटित था, अब तक सिर्फ 31.96 फीसदी ही खर्च हो सका है।

-मत्स्य विकास का सिर्फ 15.04 प्रतिशत बजट खर्च हो सका है।

-सिर्फ दुग्ध विकास, गन्ना और सहकारिता विभाग के बजट समय के अनुपात में खर्च किए गए हैं।

बची धनराशि का क्या?

स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा, ''अब इन बचे पैसों का 15 दिन में बंदरबांट होगा या इसे घोटाले का शिकार बनाया जाएगा। इसीलिए सपा सरकार में मंत्रियों ने इसे रोककर रखा हुआ है। ऐसी हालत में अनुपूरक बजट सरकार की अदूरदर्शिता बताती है।''

Admin

Admin

Next Story