जानिए कहां उपद्रवियों ने ‘लव जिहाद’ के आरोप में फूंक दी 15 दुकानें?

यूपी सरकार की सख्ती के बावजूद लव जिहाद की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। ताजा मामला आगरा के खंदौली के सेमरा गांव का है। यहां ‘लव जिहाद’ के आरोप में उपद्रवियों ने जमकर हंगामा किया।

Published by Aditya Mishra Published: September 18, 2019 | 1:26 pm
Modified: September 18, 2019 | 1:28 pm

लखनऊ: यूपी सरकार की सख्ती के बावजूद लव जिहाद की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। ताजा मामला आगरा के खंदौली के सेमरा गांव का है। यहां ‘लव जिहाद’ के आरोप में उपद्रवियों ने जमकर हंगामा किया।

उन्होंने नौवीं कक्षा की छात्रा को एक जाति विशेष के युवक द्वारा भगा ले जाने पर करीब 200 लोगों के साथ मिलकर एक ख़ास धर्म के दुकानदारों पर हमला बोल दिया। उपद्रवियों ने 15 दुकानों में आग लगाते हुए छह घरों में जमकर तोड़फोड़ की। इस बवाल के दौरान वहां मौजूद चार पुलिसकर्मी मूकदर्शक बने रहे।

हालांकि, मंगलवार देर रात पुलिस ने छात्रा को बरामद कर लिया और एक आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया। बता दे कि 15 वर्षीय छात्रा सैमरी स्थित अपने ननिहाल में रहकर पढ़ाई करती है। छात्रा सुबह स्कूल गई थी, लेकिन घर नहीं लौटी।

ये भी पढ़ें…लव जिहाद का नया मामला, खुद को हिन्दू बताकर कानपुर के मुस्लिम ने किया खेल 

इसके बाद दोपहर एक बजे उसकी तलाश शुरू हुई। दो बजे अफवाह फैल गई की लापता लड़की के मामा के पास आरोपी का धमकी भरा फोन आया है कि पुलिस को मत बताना।

इतना ही नहीं दो आरोपी भी कई दिनों से घर के चक्कर लगा रहे थे। लिहाजा शक और भी गहरा गया। इसके बाद थाने में तीनों के खिलाफ तहरीर दे दी गई। शाम तक कार्रवाई नहीं हुई तो लोगों की उग्र भीड़ ने उप्रदव मचाना शुरू कर दिया।

ये भी पढ़ें…लव जिहाद बताकर छात्रा के क्लासमेट की पिटाई का वीडियो वायरल, विहित कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज

आरोपी पक्ष के लोगों ने किया पलायन

बवाल की सूचना पर आईजे (रेंज) ए सतीश गणेश, एसएसपी, डीएम समेत दस थानों की फोर्स और पीएसी के जवान मौके पर पहुंच गए। उधर, बवाल के डर से आरोपी पक्ष के 50 लोग गांव से पलायन कर गए।

सतीश गणेश ने बताया कि अपहृत छात्रा की बरामदगी कर ली गई है। गांव में पुलिस और पीएसी लगा दी गई है। तोड़फोड़ करने वालों के तलाश में दबिश दी जा रही है। उनकी जल्द गिरफ़्तारी की जाएगी।

आखिर होता क्या है ये लव जिहाद

लव जिहाद दो शब्दों से मिलकर बना है।अंग्रेजी भाषा का शब्द लव यानी प्यार, मोहब्बत, इश्क और अरबी भाषा का शब्द जिहाद। जिसका मतलब होता है किसी मकसद को पूरा करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा देना।

यानी जब एक धर्म विशेष को मानने वाले दूसरे धर्म की लड़कियों को अपने प्यार के जाल में फंसाकर उस लड़की का धर्म परिवर्तन करवा देते हैं तो इस पूरी प्रक्रिया को लव जिहाद कहा जाता है।

अब अगर आप लव जेहाद का मतलब समझ गए हैं तो आपको ये भी बता दें कि अबतक लव जेहाद शब्द को कानूनी मान्यता प्राप्त नहीं थी। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया है कि लव जिहाद होता है और मुस्लिम युवक हिंदू लड़कियों को अपने प्यार के जाल में फंसाकर उनका धर्म परिवर्तन करवाकर लव जेहाद करते हैं।

सबसे केरल हाईकोर्ट में आया था लव जिहाद का मामला

इसकी शुरुआत तब हुई जब केरल हाईकोर्ट ने 25 मई को हिंदू महिला अखिला अशोकन की शादी को रद्द कर दिया था। अखिला अशोकन ने दिसंबर 2016 में मुस्लिम शख्स शफीन से निकाह किया था।

आरोप है कि निकाह से पहले अखिला ने धर्म परिवर्तन करके अपना नाम हादिया रख लिया। जिसके खिलाफ अखिला उर्फ हादिया के माता-पिता केरल हाईकोर्ट पहुंचे। जिन्होंने आरोप लगाया कि उनकी बेटी को आतंकवादी संगठन आईएसआईएस में फिदायीन बनाने के लिए लव जेहाद का सहारा लिया गया।

जिसके बाद केरल हाईकोर्ट ने अखिला उर्फ हादिया और शफीन के निकाह को रद्द कर दिया। लेकिन अखिला उर्फ हादिया के पति शफीन ने केरल हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी। इसी मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मामले की एनआईए जांच के आदेश दिए।

सुप्रीम कोर्ट ने लव जिहाद पर कही थी ये बात

आतंकवादी घटनाओं की जांच करने वाली एजेंसी को अखिला उर्फ हादिया और शफीन के प्रेम विवाह में लव जेहाद और टेरर कनेक्शन का जिम्मा सौंपते हुए सुप्रीम कोर्ट ने जो टिप्पणी की, वो भी गौर करने लायक है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘जिस तरह इंटरनेट गेम ब्लू व्हेल में किसी लड़के या लड़की को टास्क दिए जाते हैं और जिसमें उसे आखिर में सुसाइड करना होता है, उसी तरह आजकल किसी को भी खास मकसद के लिए राजी करना आसान हो गया है’।

ये भी पढ़ें…केरल के डीजीपी ने दी सफाई, राज्य में लव जिहाद से जुदा कोई डाटा नहीं