×

लखनऊ स्मार्ट सिटी की रेस में और आगे बढा लखनऊ

स्मार्ट सिटी की सूची में शामिल राजधानी लखनऊ में विकास कार्यो में लगातार तेजी आती जा रही है। योगी सरकार विकास योजनाओं के ताबडतोड शुभारम्भ  और शिलान्यास करती जा रही है। इसी दिशा में आज भी नगर विकास विभाग ने कई कार्यक्रमों में इसकी शुरूआत की।

Harsh Pandey

Harsh PandeyBy Harsh Pandey

Published on 12 Sep 2019 3:26 PM GMT

लखनऊ स्मार्ट सिटी की रेस में और आगे बढा लखनऊ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: स्मार्ट सिटी की सूची में शामिल राजधानी लखनऊ में विकास कार्यो में लगातार तेजी आती जा रही है। योगी सरकार विकास योजनाओं के ताबडतोड शुभारम्भ और शिलान्यास करती जा रही है। इसी दिशा में आज भी नगर विकास विभाग ने कई कार्यक्रमों में इसकी शुरूआत की।

प्रदेश के नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन ने लखनऊ कैसर बाग स्थित, स्मार्ट सिटी मिशन के तहत अवन्तीबाई अस्पताल में वेस्ट वॉटर रियूज के 10 के.एल.डी. क्षमता के संयत्र का लोकार्पण, समग्र विकास योजना के तहत पेपर मिल वार्ड में नवनीत राय द्वार से गोमती नगर वाली सड़क लगभग 08 करोड़ रुपये की लागत से सड़क चौड़ीकरण एवं डिवाइडर के निर्माण कार्य का शुभारम्भ तथा इन्दिरा नगर स्थित जरहरा में राज्य सरकार द्वारा वित्तपोषित योजनान्तर्गत राधा उपवन गौशाला परिसर स्थित नवनिर्मित पशु चिकित्सालय एनिमल बर्थ सेन्टर (ए.बी.सी.) का शुभारम्भ आज किया गया।

इस अवसर पर नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन ने कहा कि लखनऊ को राजधानी का गौरव दिलाना है। इसका चयन भारत सरकार द्वारा स्मार्ट सिटी के रूप में हो चुका है। आने वाले समय में जल की कमी होने की संभावना है, जिसके दृष्टिगत वेस्ट वॉटर ट्रीटमेंन्ट प्लांट का निर्माण किया गया है। इस संयंत्र द्वारा अशुद्ध पानी को शुद्ध करके उसे इस्तेमाल योग्य बनाया जायेगा।

नगर विकास मंत्री ने कहा कि पशु आश्रम योजना के तहत राधा उपवन’ का निर्माण नगर निगम लखनऊ द्वारा 4.12 करोड़ रुपये की लागत से इन्दिरा नगर स्थित ग्राम जरहरा में किया गया है। उन्होंने कहा कि नगर निगम के सौजन्य से इस चिकित्सालय में एक एन.जी.ओ. ‘ह्यूमेन सोसाइटी इंटरनेशनल इंडिया’ नामक संस्था द्वारा एनिमल बर्थ कंट्रोल सेन्टर खोला जा रहा है, जिसमें आवारा कुत्तों का बन्ध्यीकरण किया जायेगा, जिससे आवारा कुत्तों की आबादी पर रोक लगेगी। इस राधा उपवन में लगभग 500 गायों तथा 200 कुतों को रखने की क्षमता है।

Harsh Pandey

Harsh Pandey

Next Story