×

Lucknow: अपना दल अध्यक्ष कृष्णा पटेल को धमकी, DGP से मांगी सुरक्षा, अनुप्रिया के पति पर भी आरोप

Lucknow : अपना दल कमेरावादी की राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्णा पटेल ने डीजीपी मुकुल गोयल से मुलाकात कर कार्रवाई और सुरक्षा दिए जाने की मांग की है।

Rahul Singh Rajpoot
Published on 29 Nov 2021 3:05 PM GMT
Apna Dal Parivar
X

कृष्णा पटेल, अनुप्रिया पटेल और आशीष पटेल (डिजाइन फोटो- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow : केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल और अपना दल कमेरावादी की राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्णा पटेल को फोन पर धमकी मिली है। इस संबंध में कृष्णा पटेल (Krishna Patel Ko Jaan Se Marne Ki Dhamki) ने डीजीपी मुकुल गोयल से मुलाकात कर कार्रवाई और सुरक्षा दिए जाने की मांग की है। कृष्णा पटेल ने अपने प्रार्थना पत्र में अनुप्रिया पटेल(Anupriya Patel) के पति MLC आशीष कुमार सिंह (Anupriya Patel Husband) पर भी जान का खतरा व संपत्ति हड़पने का आरोप लगाया है।

बता दें कृष्णा पटेल और उनकी बड़ी बेटी अनुप्रिया पटेल (Anupriya Patel) और उनके पति आशीष कुमार सिंह (Anupriya Patel Husband Name Ashish Kumar Singh) के बीच संपत्ति बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा है। इसके साथ ही पार्टी को लेकर भी विवाद हुआ था जिसके बाद अपना दल दो ग्रुप में बट गया है।

जान से मारने की धमकी
Krishna Patel Ko Jaan Se Marne Ki Dhamki

डीजीपी को दिए प्रार्थना पत्र में कृष्णा पटेल ने कहा है कि उन्हें 28-11- 2021 की रात 8:36 बजे एक अज्ञात व्यक्ति जिसका नंबर उन्होंने अपने प्रार्थना पत्र में अंकित किया है। उससे फोन करके जान से मारने की धमकी देते हुए आगामी विधानसभा चुनाव ना लड़ने को कहा। उन्होंने इसके पहले अपनी जान के खतरे की आशंका जताते हुए सुरक्षा की मांग की थी, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

कृष्णा पटेल ने इस संबंध में डीजीपी को बताया कि साल 2015 से उन्हें भारतीय जनता पार्टी में विलय करने तथा अपना दल के संस्थापक डॉक्टर सोनेलाल पटेल की संदिग्ध मौत की जांच की भी मांग ना करने के लिए विधान परिषद सदस्य आशीष कुमार सिंह द्वारा दबाव बनाया जाता रहा है।

कृष्णा पटेल ने कहा है की कई बार मना करने के बाद भी बार-बार अनुचित तरीके से उन पर दबाव बनाया जाता रहा है। दबाव में लेने के लिए दल संगठन के साथ ही निजी संपत्ति को विवादित करने के लिए वह मनगढ़ंत एवं निराधार वाद कोर्ट व अन्य फोरम में दाखिल कर किया है।

उन्होंने कहा कि उनकी जान-माल पर खतरा बढ़ने की जानकारी विभिन्न स्रोतों से प्राप्त होने पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सुरक्षा की मांग की थी लेकिन उन्हें नहीं मिली। जिसके बाद अब तेजी से घटनाक्रम बदल रहे हैं वह और उनकी बेटी पल्लवी पटेल और उनके परिवारजनों पर खतरे की आशंका बढ़ गई है। उन्होंने डीजीपी से अनुरोध किया है कि इस धमकी प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए इस पर रिपोर्ट दर्ज की जाए एवं उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई जाय। कृष्णा पटेल ने प्रार्थना पत्र की एक प्रति मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और सपा प्रमुख अखिलेश यादव को भी भेजा है।

2022 के चुनाव के लिए अखिलेश यादव से गठबंधन

गौरतलब है कि अपना दल एस की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल जहां बीजेपी की सहयोगी और केंद्रीय मंत्री हैं, वही कृष्णा पटेल और उनकी छोटी बेटी पल्लवी पटेल अपना दल के की कमान संभाल रही हैं। वह 2022 के चुनाव के लिए अखिलेश यादव से गठबंधन कर चुकी हैं।

सोनेलाल की मौत के बाद अनुप्रिया उनका परिवार में विघटन हो गया अनुप्रिया और उनके पति जहां पार्टी पर दावा करते थे वही उनकी मां और छोटी बेटी पल्लवी अलग दावा करती थी। मामला चुनाव आयोग गया और अपना दल बट गया। जिसमें अनुप्रिया उनके पति (अपना दल एस) बीजेपी के साथ और कृष्णा पटेल और पल्लवी पटेल अलग (अपना दल कामेरावादी) की अध्यक्ष हैं।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story