×

Lucknow News: मिशनरी सेंट पीटर्स स्कूल के प्रधानाचार्य ने दलित छात्र को पीटा, पुलिस से शिकायत पर स्कूल से निकाला

Lucknow News Today: मिशनरी सेंट पीटर्स स्कूल के प्रधानाचार्य ने 12वीं के दलित छात्र की बेरहमी से पिटाई कर कपड़े फाड़ दिए। जब शिकायत की तो छात्र को स्कूल से बाहर निकाल दिया।

Prashant Dixit
Published on: 9 Dec 2022 5:40 AM GMT
Principal thrashed Dalit student
X

Principal thrashed Dalit student (Image: Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow News: लखनऊ में मोहनलालगंज स्थित मिशनरी सेंट पीटर्स स्कूल के प्रधानाचार्य ने 12वीं के दलित छात्र की बेरहमी से पिटाई कर कपड़े फाड़ दिए। जब परिजनों ने पुलिस से इस बात की शिकायत की तो छात्र को स्कूल से बाहर निकाल दिया। जब थाने में सुनवाई नहीं हुई तो पीड़ित छात्र के पिता ने अधिकारियों से शिकायत की है। बृहस्पतिवार को थाने पर कॉलेज के प्रधानाचार्य और छात्र को बुलाया गया। जहां कार्रवाई न होते देख पीड़ित ने सांसद और केंद्रीय राज्यमंत्री कौशल किशोर से न्याय की गुहार लगाई है।

सांसद के दखल के बाद एक्शन

क्षेत्रीय सांसद की नाराजगी पर एडीसीपी दक्षिण मनीषा सिंह थाने पहुंची और उन्होंने छात्र का बयान दर्ज कराया। जिसके बाद केस दर्ज करने का आदेश भी दिया है। एडीसीपी के मुताबिक, कॉलेज में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे है, जो दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। एकता नगर कल्ली पश्चिम के वीरेंद्र कुमार के अनुसार, उनका बेटा शुगर का मरीज है। मिशनरी सेंट पीटर्स स्कूल में पढ़ता है। जहा 18 नवंबर को कॉलेज में डायरी न दिखाने पर प्रिंसिपल ने बेटे को बेरहमी से पीटा और उसके कपड़े तक फाड़ दिए थे। जबकि पुलिस से शिकायत करने पर उसे स्कूल से बाहर निकाल दिया गया है।

छात्र को कई बार किया अपमानित

जबकि डायरी कॉलेज में ही जमा थी। 20 दिन से बेटे की पढ़ाई चौपट है। यह पूरी घटना 18 नवंबर की है। छात्र के पिता ने बताया कि बेटा उनके साथ ही कॉलेज गया था। प्रिंसिपल ने प्रार्थना सभा के दौरान माइक से बेटे को अपमानित करते हुए कहा कि ये न तो लड़का है ओर न ही लड़की। इस व्यवहार से उनका बेटा काफी आहत है। उन्होंने आगे बताया, कि शुगर मरीज होने की वजह से बेटा कई बार पेशाब करने जाता है। इसे लेकर भी प्रिंसिपल ने बेटे को कई बार क्लास में अपमानित किया है।

Snigdha Singh

Snigdha Singh

Next Story