गायों पर ये प्रथा: सालों बाद अब होगी खत्म, CM योगी का बड़ा फैसला

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गौ आश्रय स्थल बनाए जाएं। गौवंश के नस्ल सुधार और अन्ना प्रथा समाप्त किए जाने के लिए ठोस कार्ययोजना बनायी जाए।

बुंदेलखंड की अन्ना प्रता पर लगेगी रोक (फाइल फोटो)

लखनऊ: वर्षो से उपेक्षित बुंदेलखण्ड क्षेत्र के चौतरफा विकास के लिए राज्य सरकार हर तरह के प्रयास करने में जुटी हुई है। पर्यटन के क्षेत्र में विकास के साथ ही जल आपूर्ति तथा गायों के संरक्षण के लिए भी कई योजनाएं बनाई जा रही हैं। खास बात यह है कि इस क्षेत्र में गायो की अन्ना प्रथा को खत्म किए जाने की कार्ययोजना बनाई जा रही है।

बुंदेलखंड क्षेत्र के चौतरफा विकास का प्रयास

पिछले साल दिसम्बर में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने झांसी चित्रकूट धाम बुंदेलखंड क्षेत्र की अन्ना प्रथा का हल निकालने का निर्देश दिया था। कोर्ट का कहना था कि इस क्षेत्र में गायों को दुहने के बाद खुला छोड़ दिया जाता है। जानवरों को खुला छोड़ देने से वह फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। जिसकी वजह से किसानों को काफी परेशानी हो रही है। इसे अन्ना प्रथा के नाम से जाना जाता है। चित्रकूट धाम मण्डल में 50 करोड़ रुपए से अधिक लागत के कुल 17 निर्माण कार्य शुरू हो गए हैं। बांदा में उच्चीकृत 300 शैय्यायुक्त मण्डलीय संयुक्त जिला चिकित्सालय बन रहा है। यह चिकित्सालय चार माह में पूर्ण हो जाएगा।

ये भी पढ़ें-   जनता को महंगाई से मिली बड़ी राहत, कम हुए डीजल के दाम, फटाफट चेक करें रेट

Anna Pratha
बुंदेलखंड की अन्ना प्रता पर लगेगी रोक (फाइल फोटो)

बुन्देलखण्ड पैकेज के अधीन कुलपहाड स्प्रिंक्लर परियोजना प्रगति पर है। इससे 2,700 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होगी और कृषक लाभान्वित होंगे। अर्जुन सहायक परियोजना शीघ्र ही पूर्ण हो जाएगी। इससे लोगों को सिंचाई व पेयजल प्राप्त होगा। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे परियोजना का निर्माण तेजी से किया जा रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत मण्डल के कुल लक्ष्य 16,095 आवासों में से अवशेष 676 आवासों को सितम्बर के अंत तक पूर्ण कर लिया जाएगा। जल संग्रहण के लिए वाटर स्टोरेज टैंक स्थापित किए जा रहे हैं। इससे पानी की समस्या को कम करने में मदद मिलेगी।

समाप्त की जाए अन्ना प्रथा- सीएम योगी

Anna Pratha CM Yogi
बुंदेलखंड की अन्ना प्रता पर लगेगी रोक (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गौ आश्रय स्थल बनाए जाएं। गौवंश के नस्ल सुधार और अन्ना प्रथा समाप्त किए जाने के लिए ठोस कार्ययोजना बनायी जाए। योगी ने महोबा व हमीरपुर के जिला अस्पतालों को अपग्रेड किए जाने तथा खनन फण्ड से प्राप्त राशि का अस्पताल बनाने में उपयोग किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने ड्रिप इरिगेशन को बढ़ावा देने तथा बांध बनाकर केन-बेतवा नदियों में उपलब्ध जल का सिंचाई में उपयोग किए जाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने अन्ना प्रथा को समाप्त करने तथा गौवंश की नस्ल सुधार किए जाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि जीरो बजट खेती को प्रोत्साहित किया जाए।

ये भी पढ़ें-   राजधानी में हुई गोरखपुर हिस्ट्रीशीटर दुर्गेश यादव की हत्या, मची अफरा-तफरी

इससे ऑर्गेनिक खेती को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही, किसानों की आय बढ़ेगी व कृषि कार्य की लागत में कमी आएगी। उन्होंने भूमि सम्बन्धी विवादों को निस्तारित करने के लिए अभियान संचालित करने को कहा है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जनपद चित्रकूट में पर्यटन की व्यापक सम्भावनाएं हैं। इसके लिए पर्यटन विकास की व्यापक कार्ययोजना को आगे बढ़ाने को कहा। उन्होंने कहा कि इससे स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि डिफेन्स कॉरिडोर परियोजना के माध्यम से भी स्थानीय युवाओं के लिए बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर सृजित होंगे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App