×

TRENDING TAGS :

Election Result 2024

UP News: योगी के मंत्री की कार पर रेलवे एक्ट के तहत एफआईआर, लखनऊ स्टेशन पर दिव्यांग रैंप पर चढ़ाई थी कार

UP News: पशुधन मंत्री धर्मपाल सिंह को ट्रेन पकड़ने के लिए पैदल न चलना पड़े इसलिए उनकी कार दिव्यांगों के रैंप से होते हुए प्लेटफॉर्म तक पहुंचा दिया गया। अब इस मामले में रेलवे एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए रेलवे एक्ट की धारा 159 में मामला दर्ज किया गया है। जिसमें 500 रुपये जुर्माना या अधिकतम एक माह कारावास का प्राविधान है।

Ashish Pandey
Published on: 25 Aug 2023 8:27 AM GMT
UP News: योगी के मंत्री की कार पर रेलवे एक्ट के तहत एफआईआर, लखनऊ स्टेशन पर दिव्यांग रैंप पर चढ़ाई थी कार
X
fir against minister dharampal singh (photo: Social Media)

UP News: योगी सरकार के पशुधन मंत्री धर्मपाल सिंह के चारबाग रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर लगे एस्केलेटर तक कार सहित पहुंचने के मामले में रेलवे ने एक्शन लेते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया। यह मामला गलत जगह पार्किंग करने के आरोप में रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने रेलवे एक्ट की धारा 159 के तहत दर्ज किया है। इस एक्ट में अधिकतम 500 रुपये जुर्माना और एक माह कारावास अन्यथा दोनों का प्राविधान है।

अखिलेश ने बोला था हमला-

इस मामले में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी ट्वीट किया था। वहीं मंत्री ने भी अखिलेश यादव के ट्विट पर पलटवार करते हुए अपना पक्ष रखा। ट्विटर पर लिखा था कि ‘‘अच्छा हुआ ये बुलडोजर से स्टेशन नहीं गए थे।‘‘

जानिए क्या है पूरा मामला-

योगी सरकार में पशुधन मंत्री धर्मपाल सिंह को बुधवार को ट्रेन नंबर 13005 हावड़ा-अमृतसर पंजाब मेल से लखनऊ से बरेली की यात्रा करना था। ट्रेन को चारबाग स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर चार पर आना था। जीआरपी को वीआईपी प्रोटोकाल की सूचना देने के बाद मंत्री का काफिला शाम चार बजे रेलवे न्यायालय के सामने पहुंचा।

यहां जिस सरकारी कार यूपी-32-ईजी-5526 में मंत्री धर्मपाल सिंह बैठे थे, वह कार दिव्यांग रैंप पर चढ़ते हुए रेलवे न्यायालय के सामने एस्केलेटर तक पहुंच गई।

यह प्लेटफार्म नंबर एक का ही हिस्सा है। मंत्री की कार पहुंचते ही यात्रियों में भगदड़ मच गई। बताया जा रहा था कि मुख्य पोर्टिको से अधिक चलना पड़ता, जबकि मंत्री प्लेटफार्म के एस्केलेटर तक पहुंचकर वहां से सीधे प्लेटफार्म नंबर चार पर पहुंच गए।

मंत्री जी की कार से गर्मा गई सूबे की सियासत-

इस मामले को लेकर एक ओर जहां यूपी की सियासत गर्मा गई तो वहीं आरपीएफ ने रेलवे न्यायालय के सामने लगे सीसीटीवी के फुटेज खंगाले। फुटेज में मंत्री की कार का नंबर निकालकर ड्राइवर पर रेलवे एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। आरपीएएफ ने नोटिस भी जारी कर दी है। विवेचना आरपीएफ उपनिरीक्षक राहुल कुमार को सौंपी गई है। जल्द ही आरपीएफ ड्राइवर से पूछताछ करेगी। वहीं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्विटर पर लिखा कि ‘‘अच्छा हुआ ये बुलडोजर से स्टेशन नहीं गए थे।‘‘

वहीं मंत्री धर्मपाल सिंह ने अखिलेश के वार पर पलटवार करते हुए कहा कि हम लोग माननीय अखिलेश यादव जी की तरह काफिला नहीं लेकर चलते हैं। मेरी एक गाड़ी थी। उस समय ड्राइवर और मेरा सुरक्षाकर्मी था। भारी बारिश हो रही थी। एस्केलेटर तक गाड़ी पहुंची थी। गाड़ी न तो प्लेटफार्म पर गई थी और न ही किसी को कठिनाई थी। एस्केलेटर के माध्यम से हम ट्रेन पकड़ कर ट्रेन में चढ़कर आए हैं। हम अखिलेश यादव की तरह कोई काम नहीं करते हैं। हम लोग सामान्य स्तर पर चलते है। मैं एक किसान का बेटा हूं, उसी तरीके से रहता हूं।

क्या बोलीं-सीनियर डीसीएम रेखा शर्मा-

इस मामले में सीनियर डीसीएम, लखनऊ रेखा शर्मा ने कहा कि एस्केलेटर तक वाहन ले जाने के मामले में रेलवे एक्ट की धारा 159 के तहत मामला दर्ज किया गया है। सीसीटीवी फुटेज से वाहन का नंबर निकालकर चालक को नोटिस भेजी जा रही है।

Ashish Pandey

Ashish Pandey

Next Story