×

काशी में हस्तशिल्प-बुनकरों के लिए होगी नए युग की शुरुआत, PM मोदी कल करेंगे लोकार्पण

काशी के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार (22 तारीख को) वाराणसी आ रहे हैं। ऐसे में इस बार पीएम मोदी काशी आते ही सीधे बड़ा लालपुर में बने ट्रेस फेसिलिटी सेंटर का उद्घाटन करेंगे।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 21 Sep 2017 12:40 PM GMT

काशी में हस्तशिल्प-बुनकरों के लिए होगी नए युग की शुरुआत, PM मोदी कल करेंगे लोकार्पण
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

वाराणसी: काशी के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार (22 तारीख को) वाराणसी आ रहे हैं। ऐसे में इस बार पीएम मोदी काशी आते ही सीधे बड़ा लालपुर में बने ट्रेस फेसिलिटी सेंटर का उद्घाटन करेंगे।

यहीं से पीएम लगभग 17 योजनाओ का शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे। बुनकरों और हस्शिल्पकारों के लिए 200 करोड़ की अधिक की लागत से बनकर तैयार हुआ ये ट्रेड सेंटर पूरी तरीके से शुक्रवार को पीएम मोदी की ओर से जनता को समर्पित किया जाएगा।

मोदी के हाथो लोकार्पण के लिए ये ट्रेड सेंटर सज सवंर कर तैयार हैं। लोपकार्पण के बाद बड़ा लालपुर स्थित सेंटर से काशी का ताना-बाना पुरे विश्व में चमकेगा।

ये हैं सेंटर की सुविधाएं

व्यापार सुविधा केंद्र के अंतर्गत बेसमेंट,ग्राउंड फ्लोर सहित तीन अतिरिक्त फ्लोर, दो स्तरीय बेसमेंट सहित लगभग चार सौ चार पहिया वाहन कड़ी करने की सुविधा , भूतल अतिरिक्त 11 मार्ट , लगभग 2000 व्यक्तियों के बैठने वाला कंवेशन सेंटर, फूड कोर्ट, १४ दुकाने, पूछतछ केंद्र, प्रवेश प्लाजा गैलरी और एम्फीथियेटर है। प्रथम ताल पर 13 मार्ट ,दो एटीएम, प्रदर्शन गैलरी, दो रेस्तरां, लॉउन्ज ,सिल्क गैलरी, कॉर्पोरेट गैलरी तथा इतिहास और संगीत गैलरी है।

द्वितीय तल

व्यापर केंद्र , सभागार ,व्यापर व् सूचना का राष्ट्रिय केंद्र, चार दुकाने, 15 डारमेट्री ,कार्यालय,पुस्तकालय ,रिकॉर्ड रूम , चल चित्र हॉल आदि ,

तृतीय तल

13 कार्यालय,तथा व्यापर केंद्र के अतिरिक्त 18 अतिथिगृह कॉमन हॉल , सेंटर का सम्पूर्ण परिसर वातानुकूलित ,और पावर बैकअप की सुविधा से लेस हैं परिसर में 13 लिफ्ट , दो सामग्री लिफ्ट , दो स्वचालित सीढिया हैं। 100 किलोवाट क्षमता का सौर ऊर्जा संयंत्र भी स्थापीत हैं

इस अत्याधुनिक सेंटर से काशी सहित पूर्वांचल के विभिन्न शहरों के बुनकर और हस्तशिल्पकारों को काफी सुविधा होगी।जिससे वह अपने तैयार किये गए माल को विश्व पटल पर ला सकेंगे। जिससे ज्यादे से ज्यादे मुनाफा कमा सकेंगे।

आगे की स्लाइड्स में देखें अन्य फोटोज...

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story