×

UP Election 2022 : 'लापता विधायक' विनय शाक्य ने दिया BJP को झटका, बोले- स्वामी प्रसाद के साथ सपा में होंगे शामिल

औरैया जिले की बिधूना सीट से बीजेपी विधायक विनय शाक्य भी गायब बताए जा रहे हैं। हालांकि, उनकी बेटी का दावा है कि उनका अपहरण कर लिया गया है। फिलहाल, पुलिस की तरफ से आया बयान कुछ और ही इशारे करता है।

Network
Published on 12 Jan 2022 4:09 AM GMT
UP Election 2022 : लापता विधायक विनय शाक्य ने दिया BJP को झटका, बोले- स्वामी प्रसाद के साथ सपा में होंगे शामिल
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

UP Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य (swami prasad maurya) के भारतीय जनता पार्टी (BJP) से इस्तीफे के बाद पार्टी को आज एक और झटका लगा है। बिधूना के विधायक विनय शाक्य, जिनके अब तक लापता होने की बात उनकी बेटी के द्वारा कही जा रही थी, अब उनका बयान सामने आया है। विनय शाक्य (Vinay Shakya) ने लापता या अपहरण की बात को खारिज करते हुए कहा, कि वह स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में जाएंगे।

इससे पहले मंगलवार को उस समय बड़ा सियासी भूचाल मचा जब स्वामी प्रसाद मौर्य ने योगी मंत्रिमंडल से इस्तीफा देकर समाजवादी पार्टी का दामन थामा। सियासी गलियारे में अभी बातें शुरू ही हुई थी कि अखिलेश यादव के साथ उनकी तस्वीर सामने आते ही सभी अटकलों पर विराम लग गया। स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद उनके कुछ अन्य साथी विधायकों ने भी बीजेपी से इस्तीफे दिए। इसी क्रम में औरैया जिले की बिधूना सीट से बीजेपी विधायक विनय शाक्य भी गायब बताए जा रहे थे। हालांकि, उनकी बेटी का दावा था कि उनका अपहरण कर लिया गया है। लेकिन पुलिस की तरफ से आया बयान कुछ और ही इशारे कर रहा था।

बेटी ने जबरन उठाने के लगाए आरोप

बता दें, कि गायब बीजेपी विधायक विनय शाक्य की बेटी रिया ने एक बयान में अपने ही चाचा देवेश शाक्य पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा, कि उन्हें जबरदस्ती लखनऊ ले जाया गया है। रिया कहती हैं, 'मैं इस वीडियो के माध्यम से आप सभी बिधूना वासियों को एक महत्वपूर्ण बात बताना चाहती हूं। आप सबको ज्ञात होगा कि मेरे पिताजी को कुछ साल पहले लकवा मार गया था। जिसके बाद वो चलने-फिरने में असमर्थ हैं। उनकी बीमारी का फायदा उठाकर मेरे चाचा देवेश शाक्य ने उस वक़्त से ही उनके नाम पर अपनी व्यक्तिगत राजनीति की है। जनता का शोषण किया। आज उन्होंने हद पार करते हुए जबरन मेरे पिताजी को घर से उठाकर समाजवादी पार्टी में शामिल करने के लिए लखनऊ ले गए हैं।

...तब मुख्यमंत्री योगी जी ने मदद की, हम भाजपाई हैं

रिया बताती हैं, कि 'मैं उनकी बेटी होने के नाते आप लाेगों को बताना चाहती हूं कि हम भाजपाई हैं। पार्टी के साथ मजबूती से खड़े हैं। उस दौर में जब किसी ने हमारी मदद नहीं की तो प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हमारी मदद की। पिताजी का इलाज कराया। आज चंद लोग हमारे समाज के नेता बनने के नाम पर अपनी राजनीति चमका रहे हैं। फिर से वही गुंडई पर आ गए। ये लोग मेरा भी अपहरण करने का प्रयास कर रहे हैं। मैं प्रशासन और पार्टी नेतृत्व को बताना चाहती हूं कि मैं अपने पिताजी की उत्तराधिकारी हूं। हम लोग पूर्णतः भाजपाई हैं।'

पुलिस बता रही सकुशल हैं विधायक

इस बीच औरैया के पुलिस अधीक्षक का बयान कुछ और ही बयां कर रहा है। पुलिस का कहना है कि विधायक विनय शाक्य बिधूना, शान्ति कॉलोनी जनपद इटावा में सकुशल अपनी मां के साथ मौजूद हैं। अपहरण का आरोप असत्य एवं निराधार है। प्रकरण पारिवारिक विवाद से संबंधित है।

aman

aman

Next Story