×

Block Pramukh Election 2021: कानपुर में बीजेपी का दबदबा, 7 सीटें जीतीं, तीन पर सपा का कब्जा

कानपुर की 10 ब्लॉक प्रमुख सीटों के लिए शनिवार को हुए मतदान का देर शाम परिणाम आ गए।

Avanish Kumar

Avanish KumarReport Avanish KumarRaghvendra Prasad MishraPublished By Raghvendra Prasad Mishra

Published on 10 July 2021 4:38 PM GMT

sp bjp flag
X

सपा और बीजेपी का सांकेतिक झंडा (फोटो साभार-सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Block Pramukh Election 2021: कानपुर की 10 ब्लॉक प्रमुख सीटों के लिए शनिवार को हुए मतदान का देर शाम परिणाम आ गए। यहां भाजपा को समाजवादी पार्टी ने कड़ी टक्कर दी और दोनों पार्टियों को तीन तीन सीटें जीतने में सफलता मिली। हालांकि इससे पहले बीजेपी चार सीटों पर निर्विरोध चुनाव जीत चुकी थी। इस तरह यहां बीजेपी को कुल 7 और सपा को तीन सीटें मिली हैं।

6 सीटों के लिए पड़े वोट

कानपुर जनपद की छह सीटों के परिणाम आ गए हैं। चौबेपुर ब्लॉक में भाजपा प्रत्याशी राजेश शुक्ला जीते तो ककवन ब्लॉक से समाजवादी पार्टी प्रत्याशी किरनलता चुनी गईं। बिल्हौर ब्लॉक से भाजपा की मनोरमा कठेरिया ने परचम लहराया तो सरसौल ब्लॉक से सपा प्रत्याशी डॉक्टर विजय रत्ना ने कब्जा किया। भीतरगांव ब्लॉक से भाजपा के अशोक कुमार, पतारा ब्लॉक से सपा की कोमल सिंह जीतीं। जबकि 4 ब्लॉक में पहले ही भाजपा के प्रत्याशी निर्विरोध चुने जा चुके हैं।

किसे कितने वोट मिले

चौबेपुर से भाजपा प्रत्याशी राजेश शुक्ल को 41 तो सपा उम्मीदवार अनुभव शुक्ला को 25 वोट मिले। जबकि 4 वोट अमान्य घोषित किए गए। ककवन ब्लॉक से समाजवादी पार्टी प्रत्याशी किरनलता को 32 वोट तो बीजेपी उम्मीदवार को 28 वोट मिले। बिल्हौर में भाजपा की मनोरमा कठेरिया को 56 वोट मिले, जबकि सपा के विनय गौतम को 23 वोट, 3 वोट इनवेलिड करार दिए गए। सरसौल में सपा प्रत्याशी डॉक्टर विजय रत्ना को 70 तो भाजपा को 20 मत मिले। भीतरगांव में भाजपा के अशोक कुमार ने शिवकरण को 10 वोट से हराया। अशोक कुमार को 48 वोट जबकि शिवकरण को 38 वोट मिले, 3 वोट अमान्य करार दिए गए। पतारा में सपा के खाते में 44 वोट आए।

446 मतदाता कर रहे मतदान

जनपद में चार ब्लॉक प्रमुख निर्विरोध चुने जाने के बाद शनिवार को छह ब्लॉक प्रमुख पदों के लिए मतदान हो रहा है। इनमें सरसौल, पतारा, चौबेपुर, भीतरगांव, ककवन और बिल्हौर ब्लॉक हैं। पतारा में निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन करने वालीं प्रियंका ने नाम वापस ले लिया। यहां भी अब सपा और भाजपा के उम्मीदवार ही मैदान में हैं।

चौबेपुर में नारेबाजी

चौबेपुर में सपा-बीजेपी समर्थकों द्वारा नारेबाजी करने पर पुलिस ने लाठियां पटक कर खदेड़ दिया। यहां सपा के पूर्व विधायक मुनीन्द्र शुक्ला के भतीजे अनुभव शुक्ला और भाजपा समर्थित प्रत्याशी राजेश शुक्ल के बीच मुकाबला था। यहां से राजेश शुक्ल जीते। जिले में सभी जगह शांतिपूर्ण माहौल में मतदान हुआ।

इन ब्लॉकों में निर्विरोध हो चुके हैं प्रमुख

बताते चलें कि नामांकन वापसी के बाद अब ब्लाक प्रमुख चुनाव में भाजपा ने शिवराजपुर में शुभम वाजपेयी, कल्याणपुर में अनुराधा अवस्थी, घाटमपुर में इंद्रजीत सिंह और बिधनू में अरुण कुमार को निर्विरोध निर्वाचित करा लिया। शिवराजपुर में सपा ने जिस भाजपा के बागी को टिकट दिया था, वह नामांकन कराने ही नहीं पहुंचे थे।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story