×

Etawah Crime News: पुलिस कर्मियों के साथ मारपीट कर छुड़ा ले गए बालू से भरा ट्रक

खनन माफियाओं के हौसले इस कदर बुलंद हैं कि वह पुलिसकर्मियों पर भी हमला करने से भी गुरेज नहीं कर रहे।

mining mafia
X

अवैध खनन की फाइल तस्वीर (फोटो साभार-सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Etawah Crime News: खनन माफियाओं के हौसले इस कदर बुलंद हैं कि वह पुलिसकर्मियों पर भी हमला करने से भी गुरेज नहीं कर रहे। इटावा के बढ़पुरा पुलिसकर्मियों को ओवरलोड लदे ट्रक को पकड़ना भारी पड़ गया। खनन माफिया के गुर्गों ने पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट कर ट्रक को छुड़ा ले गए। बता दें कि खनन अधिकारी द्वारा चम्बल पुल पर चेकिंग के दौरान बालू लदे ट्रक को पकड़ा गया था। कार और बाइक से आए खनन माफिया के गुर्गों ने ओवरलोड ट्रक को धर्म कांटा से तौल करा कर लौट रहे पिकेट के पुलिस कर्मियों के साथ मारपीट कर ट्रक को छुड़ा ले गए। बढ़पुरा पुलिस ने पिकेट के पुलिस कर्मियों से मारपीट करने वाले 5 नामजद और 20- 25 अज्ञात लोगों पर कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज कर दिया है।

घटना की सूचना मिलते ही बढ़पुरा थाना प्रभारी जितेंद्र शर्मा अपने फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए, लेकिन तब तक हमलावर ट्रक लेकर एमपी की तरफ भाग चुके थे। इस हमले में दरोगा संजीव सिंह, कॉन्स्टेबल मानपाल, हितेश कुमार, अमन कुमार और संजीव घायल हो गए हैं। पुलिस ने सभी घायल पुलिसकर्मियों को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। इस मामले में पुलिस ने मध्य प्रदेश भिंड के फूप थाना क्षेत्र के बरही गांव का रहने वाला रवी सिंह भदौरिया उर्फ रघुवर, उसका भाई छोटे, इटावा बढ़पुरा थाना क्षेत्र के उदी निवासी दीपक भदौरिया, सनी भदौरिया, फूप थाना क्षेत्र के रानीपुरा का निवासी संजू उर्फ मोटा को पुलिस नामजद किया है। वहीं 20 से 25 अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

जानकारी के मुताबिक बढपुरा थाना क्षेत्र के चंबल पुल स्थित चेक पोस्ट पर खनन अधिकारी ब्रज बिहारी पुलिस टीम के साथ मंगलवार को चेकिंग कर रहे थे। तभी एमपी से आए मौरंग लदे ट्रक को रोका गया। ओवरलोड होने पर उसमें दो सिपाहियों को साथ में एमपी के फूप बरही टोल प्लाजा पर लगे कांटे पर वजन कराने भेजा।

क्षमता से अधिक वजन होने पर सिपाही ट्रक को वापस लेकर चेक पोस्ट पर आए और पुलिस ने कार्रवाई शुरू की। तभी ड्राइवर के फोन करने पर 20-25 खनन माफिया अपने गुर्गों के साथ पहुंच गए। लाठी डंडों, सरिया से लैस गुर्गों ने ईंट-पत्थर के साथ पुलिस पर हमला बोल दिया। अचानक हमले से पुलिसकर्मियों ने जैसे-तैसे अपनी जान बचाई। इस प्रकरण पर आज एसपी सिटी प्रशान्त कुमार सिंह ने मामले की जानकारी देते हुए जल्द हो दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही करने की बात की।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story