×

40 फुट गहरे कुँए से सांड और कोबरा सर्प का लाइव रेस्क्यू

इटावा में 40 फुट गहरे कुएं में एक सांड गिर गया है...

Uvaish Choudhari

Uvaish ChoudhariReport Uvaish ChoudhariRagini SinhaPublished By Ragini Sinha

Published on 10 Aug 2021 5:38 PM GMT

Live rescue of bull and cobra snake
X

40 फुट गहरे कुँए से सांड और कोबरा सांप का लाइव रेस्क्यू 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

उत्तर प्रदेश के इटावा में 40 फुट गहरे कुएं में एक सांड गिर गया है, लेकिन इससे पहले कुएं में एक करैत सांप और एक कोबरा सांप मौजूद था। वैदपुरा के लोगों को जब पता लगा तो उन्होंने गौ रक्षक मयंक विधौलिया को सूचना दी। मयंक विधौलिया तत्काल अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंच गए और जाकर देखा तो कुएं में एक बहुत बड़ा कोबरा सांप सांड के ऊपर बैठा था। आनन-फानन में सर्पमित्र डॉ. आशीष त्रिपाठी को फोन किया गया तभी वह भी तुरंत ही मौके पर पहुंच गए।

कुएं में दो भयंकर जहरीले सांपो के अलावा ऑक्सीजन की भी कमी थी, उसमें उतरना बिल्कुल भी खतरे से खाली नहीं था फिर भी अपनी जान की परवाह न किये बिना डॉ. आशीष त्रिपाठी रस्सियों के सहारे कुएं में अंदर उतर गए और बड़ी मुश्किल से कोबरा सांप को बाहर निकाल लिया। कुएं से बाहर आते समय दीवार की रगड़ और रस्सियों के कसाव की बजह से डॉ आशीष त्रिपाठी घायल भी हो गए। गौ रक्षकों की ओर से पुनीत को कुएं में उतारा और उसकी बहादुरी से उस विशालकाय नंदी को रस्सों से बांधा गया और बड़ी मशक्कत से ट्रैक्टरों के द्वारा बाहर निकाला गया।पूरा ऑपरेशन लगभग 6 घंटे तक चला, जिस कुएं में नंदी गिरा था उसके ऊपर बरगद और बेल पत्र का वृक्ष लगा था तो सभी लोग इसको भोलेनाथ का चमत्कार ही मान रहे थे क्योंकि एक ही कुँए में कोबरा और करैत जैसे जहरीले सांप होने पर भी सांड बिल्कुल सुरक्षित था।

नंदी और सांप को कुएं से निकालने मे मित्र डॉ. आशीष त्रिपाठी ,गौ सेवक मयंक विधौलिया, अखिलेश तिवारी, पुनीत कुमार,अजय यादव ,पवन वैदपुरा, शिवम श्रीवास्तव राघव त्रिपाठी, व अन्य गौ सेवकों ने अपनी अहम भूमिका निभाई।

Ragini Sinha

Ragini Sinha

Next Story