×

Farrukhabad News: अपनों की बेरुखी का शिकार हुआ पटेल पार्क, जर्जर हो गई है हालत

फर्रुखाबाद शहर के बीचो बीच बना पटेल पार्क पूर्व में पल्ला पार्क के नाम से जाना जाता था। देखरेख के अभाव में पार्क बदहाली का शिकार हो गया।

Dilip Katiyar

Dilip KatiyarReport Dilip KatiyarShashi kant gautamPublished By Shashi kant gautam

Published on 20 July 2021 6:29 AM GMT

Patel Park has become a victim of the indifference of loved ones, the condition has become dilapidated
X

फर्रुखाबाद शहर का पटेल पार्क

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Farrukhabad News: उत्तर प्रदेश के जनपद फर्रुखाबाद में 'पटेल पार्क' नगर का इकलौता पार्क है। यहां आजादी के वक्त से देश के तमाम बड़े नेताओं का आना-जाना रहा है। तीन दशक पहले पार्क में शहर के कोने-कोने से लोग टहलने, समय बिताने, पिकनिक मनाने पहुंचते थे। देखरेख के अभाव में पार्क बदहाली का शिकार हो गया।

आज यहां अन्ना जानवरों के झुंड, इधर-उधर फैला गोबर और किनारों पर लगे कूड़े के ढेर दिखते हैं। हालत यह है कि यदि जल्द ध्यान नही दिया गया तो पार्क मवेशियों का तबेला बनकर रह जायेगा। वर्तमान में सभी पार्क में अपनी मनमानी करने के बाज नही आ रहे है। पटेल की प्रतिमा तक में बिना किसी रुकावट के लोग अपने जानवर बांध रहे है। जिससे पार्क ने अपनी खूबसूरती खो दी है। लेकिन नगर पालिका की फाइलो में पटेल का रंगरोगन और सुन्दरीकरण होता ही रहता है।

शहर के बीचो बीच बना है पार्क

फर्रुखाबाद शहर के बीचो बीच बना पटेल पार्क पूर्व में पल्ला पार्क के नाम से जाना जाता था। जिसके रख रखाव की जिम्मेदारी नगर पालिका के पास है है। यहां की तस्वीरे यह चीख-चीख कर कह रही है की पालिका अपनी जिम्मेदारी कितनी जिम्मेदारी से निभा रही है। पटेल पार्क में अन्दर मुख्य द्वार से प्रवेश करते ही नलकूप विभाग ने अपने कब्जा कर रखा है। नलकूप की तरफ सैकड़ो की संख्या में पानी के पाइप डाले गये है। जिससे पार्क अक काफी हिस्सा उनके कब्जे में है। उसके पास ही में सरदार वल्लभ भाई पटेल की सफेद पत्थर की प्रतिमा लगी है। जिसकी दुर्दशा ओ कोई देखने वाला नही।

फर्रुखाबाद शहर के पटेल पार्क में जानवरों का जमावड़ा


प्रतिमा की रेलिंग से लोग अपने जानवर बांधते हैं

प्रतिमा के चारो तरफ की रेलिंग केबल इस लिये टूट गयी की उसमे लोग अपने जानवर बांधते है। जिससे वह पूरा क्षतिग्रस्त हो गया है| प्रतिमा के ठीक पीछे एक इलेक्ट्रानिक पेड़ लाखो खर्च कर लगाया गया था जो चंद रोज चलने के बाद बंद हो गया और फिर दोबारा नही चला। पार्क में नगरपालिका के कर्मी कूड़ा उठाना तो दूर बल्कि उसमे कूड़ा डाल जाते है।

फर्रुखाबाद शहर के पटेल पार्क में जल भराव

पार्क में गंदगी का साम्राज्य

पूरे पार्क पर आवारा जानवरों का अबैध कब्जा है। जगह जगह जानवर घूमते दिख जायेंगे। पार्क में बनी पानी की टंकी के पास भी स्थानीय लोग अपने जानवर बांधते है। जिससे पार्क में गंदगी का साम्राज्य है। अन्य गेट पर भी लोगो ने कूड़ा डालना शुरू कर दिया है। जिसमे सूअर आकर अपनी दावत खाते और और कूड़े के चक्कर में आम जनता को मुश्किल का सामना करना पढ़ता है। लेकिन नगर पालिका इस तरफ से पाना ध्यान हटाये हुये है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story