×

Anandiben Patel Farrukhabad Visit: चमड़े का हस्तशिल्प देखने आज आ रही हैं राज्यपाल आनंदीबेन

Anandiben Patel Farrukhabad Visit: उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल शुक्रवार को करीब शाम 4 बजे दो दिवसीय दौरे पर फर्रुखाबाद पहुंचेंगी।

Dilip Katiyar
Written By Dilip KatiyarPublished By Pallavi Srivastava
Updated on: 2021-09-03T11:47:41+05:30
Anandiben Patel
X

राज्यपाल अनंदीबेन पटेल की फाइल तस्वीर (फोटो-न्यूजट्रैक)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Anandiben Patel Farrukhabad Visit: उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल शुक्रवार को करीब शाम 4 बजे दो दिवसीय दौरे पर फर्रुखाबाद पहुंचेंगी। राज्यपाल यहां एक निजी चमड़ा कारखाने का मुआयना करेंगी। फर्रुखाबाद में जरी-जरदोजी और कपड़ा छपाई में ही हुनर नहीं दिखाया जाता, बल्कि चमड़े पर भी कारीगर का जलवा देश-विदेश में फैला है।

इसकी कारीगरी की चर्चा जब प्रदेश स्तर पर हुई तो राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी इसे देखने की इच्छा जताई। इसके लिए लेदर कारीगर के सबसे बड़े कारखाने में तैयारी शुरू कर दी गई है। इस मौके पर राज्यपाल फर्रुखाबाद के मशहूर पकवान और मिठाइयों का स्वाद भी चखेंगी।

कारीगरों से मिलेंगी राज्यपाल pic(social media)

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल 3 और 4 सितंबर को फर्रुखाबाद पहुंचेंगी। इस दौरान वे गंगा आरती के साथ-साथ कई कार्यक्रमों में शिरकत करेंगी। शहर में रेलवे स्टेशन के पास रेलवे रोड पर चमड़े की वस्तुएं तैयार करने का कारखाना है। यहां पर बने होम फर्निशिंग का सामान जैसे कालीन, कुशन कवर, दीवारों पर लगाने वाली आर्ट फोटो फ्रेम, स्टूल, दरी विदेशों में खूब पसंद की जाती हैं। इसकी चर्चा प्रदेश स्तर पर हुई तो राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने यहां भी चमड़े पर कारीगरी को देखने की इच्छा जताई।

इस कारण उनके दो दिवसीय संभावित कार्यक्रम में इस कारखाने का दौरा भी शामिल किया गया। कारखाने के संचालक रोहित गुप्ता ने बताया कि उन्होंने यह काम सिर्फ दो लोगों के साथ मिलकर 21 वर्ष पहले शुरू किया था। उसके बाद यहां पर अभी ढाई सौ कारीगर काम करते थे। लेकिन कोरोना के बाद से इस वक्त केवल 40 कारीगर ही काम कर रहे हैं।

अफसरों ने लिया फैक्ट्री का जायजा

उन्होंने बताया कि उनके यहां से माल यूरोप, अमेरिका, चाइना में ज्यादा निर्यात किया जाता है। यहां इस्तेमाल होने वाला ड्राई लेदर तैयार चमड़ा इटली और ब्राजील से आयात किया जाता है। उनके उत्पादों का प्रदर्शन हॉन्गकॉन्ग, चीन, फ्रांस, सिंगापुर, जर्मनी में लगने वाली प्रदर्शनी में भी होता है। उन्होंने बताया कि राज्यपाल के आने के कारण अफसरों ने भी फैक्ट्री का जायजा लिया है। साथ ही साथ निरीक्षण भी किया। इस दौरान यहां राज्यपाल को कराए जाने वाले स्वल्पाहार के बारे में भी जानकारी ली। यहां पर राज्यपाल को लेदर से बने फ्रेम में मढ़ी हुई तस्वीर के अलावा एक कालीन भी भेंट की जाएगी। फैक्ट्री के कारीगरों ने बताया कि राज्यपाल के आने से हम लोगों में खुशी की लहर है। हम लोग उनका सम्मान करेंग।

दीक्षित मिष्ठान के मिठाई का लेंगी स्वाद pi(social media)

पापड़ी चाट, कपूरकंद और सेम के बीज का स्वाद चखेंगी राज्यपाल

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल यहां की मशहूर मिठाइयों और अन्य पकवानों का भी स्वाद चखेंगी। फर्रुखाबाद की मशहूर पापड़ी चाट, कपूरकंद और सेम के बीज भी स्वल्पाहार में शामिल किए जाएंगे। दीक्षित मिष्ठान के मालिक ने बताया कि हमारी दुकान तकरीबन 80 वर्ष पुरानी है। यहां से हमने लाल रंग की सूत फेनी, कपूरकंद आदि की उनके लिए व्यवस्था की है। नमकीन के बारे में जब दुकानदार से बात की तो उसने बताया कि यहां आलू सबसे जादा प्रसिद्ध है, जिससे कई प्रकार की नमकीन बनाई जाती है। हमने लगभग 14 प्रकार की नमकीन की व्यवस्था की है। इसमें आलू के लच्छे, सेम के बीज, काजू मिक्स दालमोठ आदि है, जोकि फर्रुखाबाद की प्रसिद्ध नमकीन में सम्मिलित है।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story