×

Farrukhabad Flood News: गंगा के उफान से तटवर्ती इलाकों में दहशत, गांव से पलायन कर रहे हैं लोग

Farrukhabad Flood News: गंगा का जलस्तर बढ़ने से तटवर्ती गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं, जिससे आवागमन बाधित हो गया है। लोग पलायन करने को मजबूर हैं।

Flood News
X

गंगा नदी का बढ़ा जलस्तर pic(social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Farrukhabad Flood News: उत्तर प्रदेश के जिलों में बाढ़ तबाही मचा रहा है। बाढ़ से कई गांव तबाह हो गये। लोग अपना घर छोड़ कर सुरक्षित स्थानों पर जाने को मजबूर हैं। फर्रुखाबाद में भी गंगा नदी का पानी फिर बढ़ने से लोग परेशान हैं।

गंगा और रामगंगा के जलस्तर में वृद्धि दर्ज की गई pic(social media)

बता दें कि फर्रुखाबाद में गंगापार में गंगा नदी का पानी फिर बढ़ने से निचले इलाकों में बेचौनी बढ़ गई है। गंगा का जलस्तर बढ़ने से तटवर्ती गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं, जिससे आवागमन बाधित हो गया है। रामगंगा का जलस्तर बढ़ने से तटवर्ती गांव में कटान होने की आशंका से ग्रामीणों चितित हैं। वहीं एक दर्जन से अधिक गांव के नजदीक पानी पहुंच गया है। मुख्य रास्तों पर भी पानी भरने से लोग परेशान हो रहे हैं। कमालगंज में तराई की ओर बसा कल्लूनगला का कटान में अस्तित्व समाप्त हो चुका है। धरानगला के 80 प्रतिशत लोग अपने मकान छोड़कर ऊपर की ओर आ गए हैं। इनमें कुछ लोगों के पास रहने के लिए छत तक नहीं है।

पहाड़ों पर हो रही बारिश का असर नदियों में दिखाई पड़ने लगा है। जिससे कारण गंगा और रामगंगा के जलस्तर में वृद्धि दर्ज की गई। गंगा का जलस्तर खतरे के निशान ओर बढ़ रहा है। गंगा का जलस्तर चेतावनी बिंदु से 20 सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गया है। इस समय गंगा का जलस्तर 136.80 पर है। और रामगंगा नदी का जलस्तर 30 सेंटीमीटर बढ़कर 134.70 मीटर पर पंहुचा गया है। आज गगा नदी में नरौरा बांध से 137260, हरिद्वार से 78305, बिजनौर से 63859 क्यूसेक पानी पास किया गया। रामगंगा नदी में खो, हरेली, रामनगर बैराज 4892 क्यूसेक पानी पास किया गया अमृतपुर क्षेत्र के 12 गांवों में बाढ़ का पानी पहुंच गया है। कमालगंज के छह गांव बाढ़ के पानी से घिरकर टापू बन गए हैं। जोगराजपुर और हरसिंहपुर कायस्थ के रास्तों पर नावें चल रही हैं। समैचीपुर चितार में कटान होने से दो झोपड़ियां और छह किसानों की 32 बीघा भूमि गंगा में समा गई है।

पलायन करते लोग (file photo) pic(social media)

कटरी तौफीक में 12 किसानों के खेतों में कटान हो रहा है। जलस्तर बढ़ने से फिर मुसीबतें बढ़ने लगी हैं। हरसिंहपुर कायस्थ, ऊगरपुर, तीसराम की मड़ैया, आशा की मड़ैया, कंचनपुर सबलपुर, उदयपुर, सुंदरपुर, कलेक्टरगंज के लोग बढ़े जलस्तर को लेकर परेशान हो रहे हैं। इधर राजेपुर चित्रकूट डीप के करीब पानी पहुंच रहा है। लायकपुर के रास्ते में पानी बह रहा है। लोग पानी में घुसकर निकलने को मजबूर हो रहे हैं। गंगा का जलस्तर बढ़ने से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व संविलियन स्कूल सबलपुर में बाढ़ का पानी भर गया है। जोगराजपुर व हरसिंहपुर कायस्थ में नावें चलाई जा रही हैं। आशा की मड़ैया को जाने वाले रास्ते भी डूब गए हैं। माखन नगला, रामप्रसाद नगला, मिघन नगला, जटपुरा कहिलियाई को जाने वाली सड़क पिछली बार बाढ़ से कट जाने से पानी भर गया है।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story