×

Farrukhabad News: मगरमच्छ बना ग्रामीणों के लिए मुसीबत, मदद के बजाय दर्ज हो गया मुकदमा, जानिए क्या है पूरी खबर

Farrukhabad News: कई बार वन विभाग को सूचना देने के बाद भी कोई सुनने को तैयार नहीं है। गांव वालों की कोशिश के बावजूद मगरमच्छ पकड़ में नहीं आया है।

Dilip Katiyar
Written By Dilip KatiyarPublished By Pallavi Srivastava
Updated on: 12 Aug 2021 6:50 AM GMT
Panic among people due to the arrival of crocodile in Mandata
X

मानदाता में मगरमच्छ के आने से लोगों में  दहशत pic(social0

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Farrukhabad News: फर्रुखाबाद के मदनुपर के मजरा मानदाता में मगरमच्छ अब लोगों के लिए मुसीबत बनता रहा है। आये दिन मगरमच्छ नदी किनारे आकर जानवरो और लोगों पर हमला कर रहा है। सूचना के बाद भी वन विभाग की टीम भी कुछ नहीं कर रही है। गांव वालों ने जब खुद मगरमच्छ को भगाने का प्रयास किया तो मुकदमा दर्ज हो गया।

बता दें कि फर्रुखाबाद के मदनुपर के मजरा मानदाता में मगरमच्छ के आने से लोग दहशत में हैं। क्षेत्र के लोग व बच्चे अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं। आये दिन मगरमच्छ नदी किनारे आकर जानवरो और लोगों पर हमला कर रहा है। कई बार वन विभाग को सूचना देने के बाद भी कोई सुनने को तैयार नहीं है। गांव वालो की कोशिश के बावजूद मगरमच्छ पकड़ में नहीं आया है। लोगों का खेतो में काम करना बंद हो गया है। इससे गांव में दहशत का माहौल बन गया है। जब गांव वाले ने स्वयं इस मुशीबत से निजात पानी चाही तो पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर गांव वालों को परेशान कर रही है। गांव वालों ने बताया कि पुलिस गांव में दबिश मार रही है गांव वालो को पकड़ कर ले जाती है और रुपये लेकर छोड़ देती है।

मगरमच्छ के डर से भागने पर टूटा बच्चे का हाथ pic(social media)

मगरमच्छ को पीटने पर 12 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

आप को बताते चले कि मोहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र में काली नदी से निकलकर एक मगरमच्छ मदनुपर के मजरा मानदाता के खेत में आ रहे हैं। गांव में मगरमच्छ के आने से लोगों में दहशत का माहौल है। बारिश और गंगा नदी में बाढ़ के कारण काली नदी का जल स्तर बढ़ गया है। पानी का स्तर बढ़ने से मगरमच्छ खाने की तलाश में नदी से निकलकर खेतो व गांव में आ रहे हैं। 5 अगस्त को काली नदी से निकलकर एक मगरमच्छ खेतों में पहुंच गया। उसे देखकर वहां काम कर रहे किसान दहशत में आ गए।

ग्रामीणों में मगरमच्छ का खौफ pic(social media)

वालो ने वन विभाग की टीम को मगरमच्छ आने की सुचना दी। लेकिन कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पंहुचा। युवकों ने मगरमच्छ को लाठी डंडों से पीट कर काली नदी में फेंक दिया। काली नदी से निकले मगरमच्छ को लाठी डंडों से पीटने के मामले में वन विभाग के कर्मचारी ने मानदाता गांव के 12 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। मगरमच्छ को पीटने का वीडियो गांव के एक युवक ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था।

वही गांव के एक बच्चे ने बताया कि मैं अपनी बकरियां लेकर नदी किनारे गया था मगरमच्छ निकलने पर वह पीछे पड़ गया। उसे देखकर मैं भागा और खेतों में गिर गया। जिससे मेरा हाथ टूट गया। ग्रामीणों के मुताबिक यह पूरा गांव ही काली नदी के किनारे स्थापित है। जिसके चलते इस गांव में नदी के जंगली जानवर निकलकर ग्रामीणों की परेशानी का सबब बनते हैं। बाढ़ के पानी में बहकर आए मगरमच्छों के रिहायशी क्षेत्रों में लगातार मिलने का सिलसिला जारी है। बाढ़ के पानी के साथ मगरमच्छ गांव तक पहुंच गए हैं, जिसके बाद अब ग्रामीणों के लिए मगरमच्छ मुसीबत बन गए हैं। गांव वालों ने बताया कि पुलिस गांव में दबिश मार रही है गांव वालो को पकड़ कर ले जाती है और रूपये लेकर छोड़ देती है।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story