×

Farrukhabad News: खतरे के निशान की ओर गंगा, कई गांवों का कटा संपर्क

फर्रूखाबाद में गंगा में खतरे के निशान की ओर बढ़ रहा जलस्तर 137.00 पर पहुंच गया।

flood
X

गंगा का जलस्तर बढ़ने से पानी की चपेट में आए कई गांव (फोटो-न्यूजट्रैक)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Farrukhabad News: फर्रूखाबाद में गंगा में खतरे के निशान की ओर बढ़ रहा जलस्तर 137.00 पर पहुंच गया। बाढ़ के पानी से कई गांवों का संपर्क मुख्यालय से टूट गया है। लोग नाव से आवागमन करने को मजबूर हैं। गंगा किनारे के कई गांवों में पानी घुस गया है। ग्रामीणों को पशुओं का चारा लाने में दिक्कत हो रही है। ग्रामीण बाढ़ के पानी में जान जोखिम में डालकर आवागमन कर रहे हैं। गांव चित्रकूट के निकट बदायूं मार्ग पर गंगा की बाढ़ का पानी करीब ढाई फीट तेज धार के साथ बह रहा है। जिससे दोपहिया वाहनों का आवागमन बाधित हो गया है। रामगंगा का जलस्तर बढ़ने से अहलादपुर भटौली गांव के बाशिदों की धड़कने बढ़ गई हैं।

नरौरा बांध से गंगा में 127260 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। गंगा के जलस्तर 137.00 मीटर पर पहुंच गया है। 137.10 खतरे का निशान है। गंगा की बाढ़ का पानी गांवों में कई दिनों से भरा हुआ है। ग्रामीण बाढ़ के पानी से आवागमन कर रहे हैं, जिससे बीमारियों ने भी अपने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। गांव के हर घर में दो तीन लोग बुखार से परेशान हैं। बाढ़ का पानी होने से आवागमन में परेशानी है। स्वास्थ्य टीम न पहुंचने से पीड़ित झोलाछाप से इलाज करा रहे हैं।


गंगा किनारे कई गांवों में पानी घुस गया है। ग्रामीणों को पशुओं का चारा लाने में दिक्कत हो रही है। शमसाबाद, राजेपुर, समैचीपुर, चितार गांव के लोग सड़क तक नाव से आ रहे हैं। कमथरी, अजीज, आबाद की नगरिया, कटरी तौफीक, पलानी दक्षिण, भगवानपुर, बसोला, चौरा और चौराहार समेत 24 गांवों को पानी ने घेर लिया है। प्राथमिक विद्यालय बंधा पांचाल घाट में पानी भरने से स्कूल नहीं खोला जा सका।

अमृतपुर के गांव अंबरपुर, चित्रकूट, अंबरपुर की मड़ैया, रामपुर, जोगराजपुर, बमियारी, अबिराबद, लायकपुर, रतनपुर, सुंदरपुर, हरसिंहपुर कायस्थ, ऊगरपुर, करनपुर घाट, रामप्रसाद नगला, मिघन नगला, फुलाह, जगतपुर, राजाराम की मड़ैया, तीसराम की मड़ैया आदि में पानी भर जाने से ग्रामीणों को परेशानी हो रही है। लोग छतों पर पॉलिथीन डाल कर समय गुजार रहे हैं।

एसडीएम, तहसीलदार, सीओ व एसओ ने बाढ़ पीड़ितों का जाना हाल

Lakhimpur Kheri News: लखीमपुर खीरी में शासन की मंशा को पलीता लगा रहे उनके अधिनस्थ कर्मचारी खबर छपने के बाद बाढ़ पीड़ितों का हाल जानने तो पहुंचे मगर उनके लिए अभी तक राजस्व प्रशासन द्वारा न ही कोई है तो सहायता दी गई है न ही उनका कोई हालचाल लेने पहुंचा है। न्यूज़ट्रैक में खबर छपने के बाद अचानक उप जिलाधिकारी उनके अधीनस्थ कर्मचारी हरकत में आ गए और बाढ़ पीड़ितों का हाल लेने उनके गांव पहुंच गए।

ईसानगर क्षेत्र की ग्राम पंचायत मंडूरा में शारदा नदी के रौद्र रूप से गांव छोड़कर बंधे पर विस्थापित हुए लोगों से शनिवार को उपजिलाधिकारी धौरहरा, तहसीलदार, सीओ व एसओ ईसानगर ने मिलकर सभी का हालचाल जाना। साथ ही अपने अधीनस्थों को उनके भोजन, शुद्ध पानी, कोविड 19 की वैक्सीन की तत्काल व्यवस्था करने के लिए कड़े निर्देश दिए।

शनिवार को उपजिलाधिकारी रेनू, तहसीलदार संतोष कुमार शुक्ला, सीओ टीएन दुबे, निरीक्षक ईसानगर संजय त्यागी क्षेत्र के मंडूरा गांव में शारदा नदी का प्रकोप झेल रहे विस्थापितों का हाल जानने पहुंचे। वहां घर बार छोड़ बंधे पर बसे रमेश, बच्चू, शिवराज, राममूर्ति, उदय, कामता, बबलू, रोजअली, कलामुद्दीन, सद्दीक, निज़ामुद्दीन, शकील, तज्जली समेत अन्य बाढ़ पीड़ितों से मिलकर उनको हर सम्भव मदद का अश्वासन दिया। साथ ही अपने अधीनस्थों को निर्देश देते हुए कहा कि सभी को भोजन, शुद्ध पानी, कोविड 19 के बचाव के लिए वैक्सीन की तत्काल व्यवस्था करने को भी कहा।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story