×

Farrukhabad News : गांव में 15 दिनों से फैला विचित्र बुखार, बच्ची सहित दो की मौत

Farrukhabad News : फर्रुखाबाद (Farrukhabad) के कमालगंज के नगला दाऊद गांव में बुखार से दो लोगों की मौत हो गई।

Dilip Katiyar
Report Dilip KatiyarPublished By Shraddha
Updated on: 21 Aug 2021 8:19 AM GMT
बुखार की चपेट में बच्चे भी आए
X

बुखार की चपेट में बच्चे भी आए 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Farrukhabad News : फर्रुखाबाद (Farrukhabad) के कमालगंज के नगला दाऊद गांव में बुखार से दो लोगों की मौत हो गई। गांव में दो सौ से अधिक लोग बुखार की चपेट में हैं। पूरे गांव में गंदगी का अंबार है कूड़े के ढेर लगे हैं। कोरोना काल में कई बार ग्रामीणों ने अधिकारियों से शिकायतें भी कि लेकिन सुनवाई नहीं हुई। इससे गांव के लोग धीरे-धीरे बुखार और संक्रामक बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। बुखार से दो मौतों के बाद जागे स्वास्थ्य विभाग (Health Department) ने गांव में बुखार पीड़ितों की जांच की खाना पूर्ति कर लौट गयी ।

कमालगंज के नगला दाऊद गांव में आबादी 3500 से अधिक है। गांव की हर गली-नुक्कड़ पर कूड़े के ढेर लगे हैं। गलियों में नालियां गंदे पानी से बजबजा रही हैं। इनके उफनाने से कई गलियों में गंदा पानी भरा है। लोगों को उसी से होकर गुजरना पड़ता है। गंदगी के चलते ही गांव में संक्रामक बीमारियों ने पैर पसार लिए हैं। हफ्ते भर में 2 सौ से अधिक लोग बुखार की चपेट में आ चुके हैं। ये प्राइवेट अस्पताल में इलाज करा रहे हैं। बीमारी से 60 वर्षीय जुबेर तथा आठ वर्षीय शीना की विचित्र बुखार के चलते मौत हो गई। सूचना मिलने पर दो टीमें गांव पहुंचीं और खाना पूर्ति कर वापस चली गयी टीम को काफी संख्या में जुकाम बुखार से पीड़ित मरीज मिले।


कुडें के इस अम्बार से लोग पड़ रहे बीमार


गांव नगला दाऊद में बुखार की जांच करने गई टीम के सामने नगर की पैथोलॉजी का काला कारनामा सामने आया। निजी चिकित्सकों द्वारा कराई गई जांचों में अधिकांश डेंगू के लक्षण दर्शाए गए हैं, जबकि अधिकांश लोगों को साधारण बुखार है। कुछ पैथोलाजी संचालक निजी चिकित्सकों के इशारे पर काम कर रहे हैं। ऐसे लोगों की सूची बनाकर मुख्य चिकित्सा अधिकारी को भेज दी गई है।

प्रधान तंजीम बेगम के घर के बाहर मरीजों की जांच की गई। 200 से अधिक मरीजों की जांच की गई है। इसमें 81 लोगों को बुखार, दर्द, जुकाम की दवा दी गई। खून की जांच के लिए 29 मरीजों की स्लाइड बनाई गई। जांच रिपोर्ट आने पर ही वायरल, डेंगू, मलेरिया, टाइफाइड की पुष्टि होगी।

Shraddha

Shraddha

Next Story