×

Farrukhabad News: फर्रुखाबाद में नहीं रुक रहा गांव से पलायन का सिलसिला, लगे 'मकान बिकाऊ' के पोस्टर

जनपद फर्रुखाबाद में गरीबों और असहाय लोगों के पलायन का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। जिले में मकान बिकाऊ के पोस्टर का तीसरा मामला है।

Dilip Katiyar
Updated on: 4 Sep 2021 4:13 PM GMT
People are migrating from the village, posters of House for sale
X

 फर्रुखाबाद: गांव से लोग कर रहे पलायन, लगे 'मकान बिकाऊ' के पोस्टर

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Farrukhabad News: उत्तर प्रदेश के जनपद फर्रुखाबाद में गरीबों और असहाय लोगों के पलायन का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। गांव के लोग अब बीजेपी विधायक और प्रधान पर ही गरीबों के उत्पीड़न का आरोप लगा रहे हैं और पुलिस उनका सहयोग कर रही है। पुलिस की मिलीभगत के चलते लगातार उत्पीड़ित हो रहे ग्रामीण पलायन करने को मजबूर है। पीड़ितों ने अपने घर के बाहर दीवाल पर पोस्टर लगाएं है कि वह क्षेत्रीय विधायक और ग्राम प्रधान के उत्पीड़न से परेशान होने के कारण गांव से पलायन करने को मजबूर हैं, इसलिए ये मकान बिकाऊ है।

फर्रुखाबाद जिले के कंपिल थाना क्षेत्र के बिल्हा गांव में ग्रामीणों ने अपने घर के बाहर 'मकान बिकाऊ है' का पोस्टर लगाया था। इससे पहले कुछ दिन पूर्व जहानगंज थाना क्षेत्र के पतोंजा गांव में कुछ ग्रामीणों द्वारा 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगाए गए थे। यह तीसरी बार है जब जिले में नवाबगंज ब्लाक के गांव भगोरा के लोगों ने 'मकान बिकाऊ है' का पोस्टर लगाया है।

जिले में मकान बिकाऊ के पोस्टर का तीसरा मामला

जिले में मकान बिकाऊ के पोस्टर का तीसरा मामला है। पीड़ित का आरोप है कि विगत जुलाई को गांव में पुलिया निर्माण के दौरान युवक लल्लू सिंह की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी। जिसके संबंध में लल्लू के भतीजे आदेश राघव ने गांव के ही युवक कर्मवीर शाक्य, धर्मवीर शाक्य, संजीव कुमार उर्फ संजू ग्राम प्रधान पर मुकदमा दर्ज कराया था। जिसके बाद पुलिस ने आरोपित कर्मवीर को जेल के सलाखों के पीछे भेज दिया।


पीड़ित परिवार की कहीं सुनवाई नहीं होती

पीड़ित परिवार का आरोप है कि विवेचना में थानाध्यक्ष ने संजीव कुमार उर्फ संजू,और धर्मवीर शाक्य का नाम निकाल दिया। विधायक सुशील शाक्य ने सत्ता पक्ष का दवाब बनाकर उनकी मदद की। पीड़ित परिवार कहीं जाता है तो उसकी कहीं सुनवाई नहीं होती है क्योंकि तब तक विधायक सुशील शाक्य का फोन अधिकारियों तक पहुंच जाता है। पीड़ित परिवार ने बताया की वह अब न्याय चाहता है। जिसमें वह धर्मवीर शाक्य,प्रधान संजीव कुमार उर्फ संजू की भी गिरफ्तारी की मांग कर रहा है।पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया कि थानाध्यक्ष ने पैसों की घूस लेकर विवेचना से इन दोनों का नाम निकाल दिया है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story