×

Fatehpur News: पाबंदी के बाद भी बिना परमिट चल रही बसें, खागा कस्बा बना इस धंधे का हब

Fatehpur News: फतेहपुर जिले में बिना परमिट के बसें पंजाब, गुजरात और मुम्बई की सैर करा रहीं हैं।

Ramchandra Saini

Ramchandra SainiReport Ramchandra SainiDivyanshu RaoPublished By Divyanshu Rao

Published on 14 July 2021 9:18 AM GMT

Fatehpur News
X

बिना परमिट की बसें-फोटो सोशल मीडिया 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Fatehpur News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) जिले में पंजाब, गुजरात और मुम्बई की सैर करा रहीं हैं। जिला का खागा कस्बा तो बाकायदा इस तरह की बसों (Bus) का हब बन चुका है। इसके बावजूद टूरिस्ट बस के नाम पर भरे जा रहे फर्राटा को रोकने की जहमत नहीं उठाई जा रही है जिससे एआरटीओ प्रवर्तन की गैर जवाबदेही पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

जानें क्या है पूरा मामला

उत्तर प्रेदश में मौजूदा वक्त प्रदेश सरकार ने दूसरे राज्य के बस संचालन पर रोक लगा रखी है। इसके बावजूद टूरिस्ट बस के नाम पर यह बसें संचालित हो रहीं हैं। हर एक दिन मुम्बई, पानीपत, लुधियाना, पंजाब, अमृतसर, सूरत, अहमदाबाद , पुणे, अंबाला व मुंबई तक 10 से 12 बसें भर रहीं हैं। शहर के उत्तरी इलाके से इस तरह की बस सेवा उपलब्ध है। सबसे ज्यादा धमा चौकड़ी खागा कस्बे में दिखाई दे रही है।

पांबदी के बाद भी बिना परमिट के चलती बस-फोटो सोशल मीडिया

बिना परमिट के चल रही बसें

खागा नगर के रोडवेज बस स्टॉप के पास पर इन बसों का जमघट लगा रहता है। जानकारों की माने तो इस नाजायज संचालन पर विभागीय वरदहस्त भी प्राप्त है। इसी बिना पर बस संचालक अपने फायदे के लिए यात्रियों की जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्यूंकि कोई हादसा होने पर ऐसे यात्रियों को दुर्घटना बीमा का लाभ नहीं मिल सकता। गौर करने वाली बात यह है कि बगैर परमिट के सड़क पर दौड़ रही इन बसों पर कार्यवाई के नाम पर सहायक संभागीय परिवहन विभाग के जवाबदेह सिर्फ अपना सिस्टम फालो कर रहे है।

आरटीओ प्रशासन के अधिकारी ने कहा गैर राज्य की बसों पर पाबंदी है

आरटीओ के एक प्रशासन अधिकारी बोले की सम्बंधित एआरटीओ प्रवर्तन से बात करने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है, वैसे इस वक्त गैर प्रांत की बस सेवा पर पाबंदी है। उन्हें इस तरह की जानकारी नहीं है। इस बाबत प्रवर्तन अफसर से बात करेंगे। अवैध बसों का संचालन नहीं होने दिया जाएगा।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story