×

Fatehpur News: दबंगों ने रास्ते पर किया कब्जा, ग्रामीण अंतिम संस्कार के लिए अर्थी खेत से ले जाने को मजबूर

Fatehpur News: फतेहपुर आम रास्तों के हाल बेहाल हैं। जिससे लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

Ramchandra Saini

Ramchandra SainiReport Ramchandra SainiDivyanshu RaoPublished By Divyanshu Rao

Published on 27 Aug 2021 8:43 AM GMT

Fatehpur News
X

अंतिम संस्कार के लिए खेत से होकर अर्थी ले जाते ग्रामीण (डिजाइन फोटो:न्यूज़ट्रैक)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Fatehpur News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) आम रास्तों के हाल बेहाल हैं। जिससे लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। पर सत्ता पर बैठे लंबरदारों की जुबानी सबका साथ सबका विकास बताती है अगर यही विकास है तो लोगों को ऐसे विकास की जरूरत नहीं है। जहां लोगों को अपने घर तक जाने के लिए कोई रास्ता तक नहीं है। ऐसे में अंतिम संस्कार को अर्थी ले जाने को खेत खलिहान से जाना पड़ता है। जिसका वीडियो ग्रामीणों ने बनाकर वायरल करते हुए समस्या बताई है।

मिली जानकारी के मुताबिक असोथर विकासखंड के ग्राम पंचायत सरकंडी का मजरा कहे जाने वाले चौकी (बगहा) में बनी पुलिस चौकी तक तो पक्की सड़क बनवा दी गई लेकिन चौकी के अंतर्गत बसने वाले लोगों के लिए वह गांव किसी कोठरी से कम नहीं है। जहां ग्रामीण रास्ता ना होने की वजह से कैद बैठे हुए हैं और ग्रामीणों को खरपतवार भरे रास्ते से होकर गुजरना पड़ रहा है।

विकास का ढिंढोरा पिटने वाली सरकार की खुली पोल

जहां से सामने आई एक तस्वीर ने विकास का ढिंढोरा पीटने वाली सरकार की पोल खोल कर रख दी। जहां एक महिला की बीमारी के चलते दर्दनाक मौत हो गई। जिसके बाद परिजन उसे लेकर श्मशान घाट जाने की सोचने लगे लेकिन गांव से बाहर रास्ता ना हो पाने की वजह से ग्रामीणों को शव को लेकर खरपतवार भरे रास्ते से जाना पड़ा। ग्रामीणों ने बताया कि जो आज से करीब 100 वर्ष पूर्व जो रास्ता था उस पर दबंगों ने कब्जा कर लिया है। और अब हम लोगों को आने-जाने के लिए कोई रास्ता नहीं है।

अर्थी को कंधा दिए ग्रामीण की तस्वीर

वहीं जनपद कि यह पहली तस्वीर सामने नहीं आई जब ऐसा हुआ हो इससे पूर्व में भी कई तस्वीरें सामने आ चुकी है। जो कहीं ना कहीं सरकार के उन दावों की पोल खोलती है। जिन पर सत्ता के लंम्बरदारो द्वारा सभाओं में खड़े होकर बड़े-बड़े भाषण झोके जाते हैं। और विकास के नाम का खूब ढिंढोरारा पीटा जाता है।

लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। जबकि की जिले की सांसद केंद्रीय मंत्री है और यूपी सरकार से दो राज्यमंत्री और जिस क्षेत्र का मामला है। उस क्षेत्र से बीजेपी का विधायक भी है।तब भी विकास से अछूता है यह गांव।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story