×

Fatehpur News: अखिलेश, प्रियंका पर साध्वी निरंजन ज्योति का तीखा प्रहार, लखीमपुर खीरी घटना पर दिया बयान

साध्वी निरंजन ज्योति ने अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) द्वारा निकाले गए विजय संकल्प रथ यात्रा पर तंज कसते हुए कहा कि अखिलेश जी 2017 से अब तक और पिछला 2012 से 2017 तक का यह दोनों का कार्यकाल अपने रथ में लिखवा कर चलें।

Ramchandra Saini

Ramchandra SainiReport Ramchandra SainiShwetaPublished By Shweta

Published on 14 Oct 2021 12:53 PM GMT

Sadhvi Niranjan Jyoti
X

साध्वी निरंजन ज्योति 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Fatehpur Today News: फतेहपुर जिले (Fatehpur Ki Khabar) में दो दिवसीय दौरे पर आयी जिले की सांसद व केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति (Fatehpur Me Sadhvi Niranjan Jyoti) कई कार्यक्रमों में शामिल हुईं, जंहा उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए विपक्षियों पर जमकर हमला किया। वहीं उन्होंने शरद पवार (Sharad Pawar) द्वारा अखिलेश को जिताने के लिए समर्थन दिए जाने के सवाल पर चुटकी लेते हुए कहा कि वह अपना महाराष्ट्र ही बचा लें तो अच्छी बात है, उनके समर्थन करने से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है।

साध्वी निरंजन ज्योति ने अखिलेश यादव (Niranjan Jyoti Ka Akhilesh Yadav Per Hamla) द्वारा निकाले गए विजय संकल्प रथ यात्रा पर तंज कसते हुए कहा कि अखिलेश जी 2017 से अब तक और पिछला 2012 से 2017 तक का यह दोनों का कार्यकाल अपने रथ में लिखवा कर चलें, इससे जनता भी जानेगी कि भाजपा ने क्या किया और अखिलेश ने क्या किया। यूपी में आये दिन दंगे होते थे, लेकिन भाजपा सरकार (BJP Sarkar) में एक भी दंगे नहीं हुए। अखिलेश की सरकार दंगाई की सरकार बोली जाती थी। अखिलेश (Akhilesh Ki Vijay Yatra) किस नाम से विजय यात्रा निकाल रहे हैं, कम से कम हिसाब किताब जनता के बीच लेकर जाएं, जिस समय मुज्जफरनगर में दंगे हो रहे थे, उस समय सैफई में नाच गाना हो रहा था। सरकार गई, सैफई महोत्सव ख़त्म, क्योंकि जनता के हक़ का पैसा खर्च किया जा रहा था।


केंद्रीय मंत्री ने कहा की यूपी पर्यटन का क्षेत्र है, अयोध्या जाइये, मथुरा जाइये, काशी जाइये, चित्रकुट जाइये दर्शन करिये लेकिन 2022 के बाद दर्शन करने आइये तो पता चलेगा की आप आस्तिक भावना से आ रहे हैं या राजनैतिक भावना से आ रहे हैं। उन्होंने लखीमपुर खीरी घटना पर प्रियंका गाँधी द्वारा सरकार को लगातार घेर कर किये जा रहे सवाल पर कहा कि प्रियंका गाँधी जी राजस्थान में जिस तरह दलित को खुलेआम डंडो से पीटकर मौत के घात उतार दिया गया, राजस्थान में किसानों पर पुलिस के डंडे चले हैं, यदि एक बार राजस्थान पर कुछ बोल देतीं तो अच्छा होता, लेकिन प्रियंका की बोलती बंद है क्योंकि घटना कोई अच्छी नहीं होती चाहे यूपी में हो यह और भी कहीं।

सांसद ने कहा मुख्यमंत्री ने लखीमपुर घटना पर तत्काल जांच की, जांच में जो भी दोषी हो उसकी धड़ पकड़ जारी है, चाहे वह कोई भी व्यक्ति हो, वह बक्शा नहीं जाएगा और यही घटना शायद अखिलेश के समय होती तो उसमें कोई पकड़ा नहीं गया होता, मुज्जफरनगर में दंगे वाले नहीं पकडे गए, पकड़े गए थे संगीत सोम, सुरेश राणा। उन्होंने यह भी कहा की प्रियंका को इतना हमदर्द है तो कम से कम 84 के दंगों में मारे गए सिखों परिवारों के घर में जाकर हमदर्दी जताती और माफ़ी मांगतीं, मेरी दादी व पिता के समय जो हुआ उसकी हम माफ़ी मांगते हैं, क्यों नहीं माफ़ी मांगतीं जाकर।

Next Story