×

Dilip Kumar : कलाकार दिलीप कुमार का इटावा जिले से रहा पुराना नाता, जानें यह वजह

Dilip Kumar : देश दुनिया के जाने माने फिल्म जगत के कलाकार दिलीप कुमार का इटावा जिले से बड़ा पुराना नाता था।

Uvaish Choudhari

Uvaish ChoudhariReport Uvaish ChoudhariShraddhaPublished By Shraddha

Published on 7 July 2021 9:03 AM GMT

Dilip Kumar : कलाकार दिलीप कुमार का इटावा जिले से रहा पुराना नाता, जानें यह वजह
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Dilip Kumar : देश दुनिया के जाने माने फिल्म जगत के कलाकार दिलीप कुमार (Dilip Kumar) का आज निधन (Death) हो गया। सभी लोग इनके निधन पर अपना शोक जता रहे हैं। 98 वर्ष के दिलीप कुमार काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। इनसे जुड़ी एक खबर सामने आई है।

फिल्म जगत के कलाकार दिलीप कुमार का इटावा जिले से बड़ा पुराना नाता था। बताया जा रहा है कि वारिश शाह वारसी की प्रसिद्ध दरगाह शरीफ पर इनका आना जाना होता था। इन्हें यूसुफ खान साहब के नाम से भी जाना जाता था। दिलीप कुमार दरगाह के सालाना उर्स में शिरकत किया करते थे। दिलीप कुमार के सेक्रेटरी हर वर्ष दरगाह पर चादर लेकर हाजिरी देते थे।

इटावा दरगाह शरीफ (फोटो - सोशल मीडिया)

दरगाह के सेक्रेटरी ने बताया मरहूम दिलीप कुमार यूसुफ खान 1972 को पहली बार दरगाह पर आए थे उसके बाद 1975 में 3 दिन दिवसीय उर्स में शामिल होने आए लेकिन प्रसाशन भीड़ को कंट्रोल करने में नाकाम होने पर 36 घण्टे में ही उनको समझाकर कड़ी सुरक्षा में सरकारी वाहन से उनको दरगाह से हटाया गया। दिलीप जी की धर्म पत्नी सायरा बानों ने दरगाह शरीफ पर अपने हाथों से चादर बनाकर दरगाह में पेश की थी। दिलीप कुमार हमेशा दरगाह में सेक्रेटियों के साथ आया करते थे तबियत ठीक न होने के चलते पिछले 5 से 6 सालों से दरगाह नहींआ सके थे। दिलीप कुमार के निधन की खबर से दरगाह के मेंबर्स में काफी मायूसी छा गयी है।

कलाकार दिलीप कुमार (फाइल फोटो - सोशल मीडिया)

6 दशकों तक सिनेमा जगत में दिया योगदान

आपको बता दें कि दिग्गज कलाकार दिलीप कुमार के जन्म का असली नाम युसूफ खान है। उनका जन्म पेशावर में हुआ था। उनके पिता मुंबई आ बसे थे, जहां उन्होंने हिन्दी फ़िल्मों में काम करना शुरू किया। बाद में उन्होंने अपना नाम दिलीप कुमार रख लिया था। बॉलीवुड में उन्हें 'द फस्ट खान' और 'ट्रेजडी किंग' के नाम से नवाजा गया। जीं हां उन्होंने 6 दशकों तक सिनेमा जगत में अपना योगदान दिया।

इनके फिल्मी करियर की शुरुआत

दिलीप कुमार ने फिल्म जगत में 1949 में बनी फिल्म मुगल- ए - आजम में पहली बार अपने अभिनय का परिचय दिया था। यह फिल्म काफी हिट गई थी लोग आज भी इस फिल्म को देखना पसंद करते हैं। इसके बाद इन्होंने 1951 में आई फिल्म 'दीदार' और 1955 में आई फिल्म देवदास में अपना शानदार अभिनय किया था। 1998 में बनी फिल्म किला उनकी आखिरी फिल्म थी।

दिलीप कुमार और सायरा बानो (फाइल फोटो - सोशल मीडिया)

दिलीप कुमार और सायरा बानो की हिट जोड़ी

दिलीप कुमार के फिल्मों के साथ उनकी लव स्टोरी भी काफी चर्चा में रहती थी। फिल्म जगत में सबसे ज्यादा एक दूसरे का साथ देनी वाली जोड़ी आज टूट गई। आपको बता दें कि दिलीप कुमार और सायरा बानो 55 सालों से एक दूसरे का हर मोड़ पर साथ निभा रहे थे। दिलीप साहब के निधन के समय सायरा बानो उनके साथ थी। सोशल मीडिया पर इन दोनों लव कपल की जोड़ी की कई तस्वीरें शेयर हो रही हैं।

Shraddha

Shraddha

Next Story